पटना: विधानसभा की 2 सीटों पर होने वाले उपचुनाव में तेज प्रताप यादव ने ऐलान कर दिया। उन्होंने घोषणा पत्र जारी करते हुए कहा कि वह कांग्रेस के प्रत्याशी का समर्थन करेंगे। कुशेश्वरस्थान से कांग्रेस प्रत्याशी अतिरेक कुमार के लिए प्रचार करेंगे। इसकी कयास पहले लगाई जा रही थी, जिसकी आज तेज प्रताप यादव ने औपचारिक घोषणा कर दी। इससे कुशेश्वरस्थान पर खड़ी हो सकती है क्योंकि जिस हसनपुर विधायक है उसका कुछ हिस्सा कुशेश्वरस्थान से सटा हुआ है।

लेकिन तारापुर में वह आरजेडी के प्रत्याशी अरुण कुमार का समर्थन करने का ऐलान कर दिए हैं। छात्र जनशक्ति परिषद की ओर से जारी पत्र में इस बार बात की जानकारी दी गई है। पत्र में कहा गया है कि तारापुर में आरजेडी प्रत्याशी अरुण कुमार का तेज प्रताप यादव समर्थन करेंगे। जबकि कुशेश्वरस्थान से कांग्रेस प्रत्याशी है अतिरेक कुमार के लिए जनता से वोट मांगेंगे।

जानकारों की माने तो तेज प्रताप यादव महा गठबंधन धर्म को निभाना चाहते हैं। कांग्रेस पहले से ही कुशेश्वरस्थान सीट की मांग कर रही थी। जहां से 2020 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस प्रत्याशी अशोक राम थे, लेकिन आरजेडी ने उपचुनाव में इस सीट को देने से इंकार कर दिया । ऐसे में कांग्रेस ने गुस्से में आकर अपना उम्मीदवार अशोक राम के बेटे अतिरेक कुमार को बना डाला । साथ में तारापुर सीट से भी प्रत्याशी उतार दिए। जिसको लेकर आरजेडी कांग्रेस में सियासी युद्ध छिड़ा हुआ है।

कुशेश्वरस्थान से अतिरेक कुमार का समर्थन करने के पीछे यह भी कहा जा रहा है कि कांग्रेस नेता अशोक राम ने तेज प्रताप यादव से मुलाकात की थी। मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेता ने समर्थन मांगा था। जिस पर तेज प्रताप ने हामी भरी है। ऐसे में वह वादा निभाने के लिए अतिरेक कुमार का समर्थन करने का ऐलान किए हैं।

बता दें कि इसके पहले तारापुर से तेज प्रताप यादव ने संजय यादव को खड़ा किया था। निर्दलीय प्रत्याशी के तौर पर संजय यादव ने नामांकन भी कर दिया था। लेकिन तेजस्वी एंड आरजेडी टीम ने संजय यादव को नामांकन वापस लेने पर राजी कर लिया। जिससे तेज प्रताप यादव खफा चल रहे हैं। ऐसे में अब देखना दिलचस्प होगा कि विधानसभा चुनाव में तेज ब्रदर्स की सियासी लड़ाई में तेज ब्रदर्स की जीत होती है या हार।