प्रदेश में हाल के दिनों में सड़कों के अलावा पुल पुलिया का भी निर्माण तेजी से हो रहा है। हालांकि अभी भी कई ऐसे इलाके हैं जहां पर एक तरफ से दूसरी तरफ जाने का सहारा नाव ही है। इसी तरह के एक इलाके में झारखंड और बिहार के बीच पांडुका में सोन नदी पर पुल का निर्माण किया जाएगा। इससे दोनों राज्यों के बड़ी आबादी को फायदा होगा।

2.2 किलोमीटर लंबे पुल का होगा निर्माण

बता दें कि पलामू के श्रीनगर से रोहतास के नौहट्टा प्रखंड को जोड़ने वाले 2.2 किलोमीटर लंबे इस पुल के लिए केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने 210.13 करोड़ रुपए जारी की है। इस पुल की टेंडर प्रक्रिया पूरी हो चुकी है। मेसर्स बृजेश अग्रवाल द्वारा 144 करोड़ में कार्य पूरा करने का सहमति जताया है। इसके अलावा इस पुल से जुड़े 68 किलोमीटर एप्रोच रोड का भी निर्माण किया जाना है। अगले 2 वर्षों में इसका निर्माण कार्य को पूरा करने का लक्ष्य है।

100 किलोमीटर तक कम हो जाएगी दूरी

ज्ञात हो कि बिहार और झारखंड का रोटी- बेटी का संबंध है। रोज हजारों लोगों का इस तरफ से उस तरफ आना जाना लगा रहता है। लेकिन फिलहाल अभी डेहरी ऑन सोन के बाद 100 किलोमीटर तक बिहार झारखंड के बीच सोन नदी पर कोई भी पुल नहीं है। ऐसे में झारखंड से बिहार आने वाले लोगों को डेहरी ऑन सोन में आकर पुल पर करना पड़ता है। इस पुल के बन जाने के बाद यह दूरी सिमटकर 3 किलोमीटर की रह जाएगी।