वह दिन गए जब महिलाओं और लड़कियों को घर तक ही सीमित समझा जाता था। आज लड़कियां किसी भी क्षेत्र में लड़कों से कम नहीं है, कहीं-कहीं तो वह खुद को लड़कों से भी बीस साबित करती हैं। आप सबने काबिलियत और कठिन परिश्रम के बल पर सफलता के ऊंचे मुकाम हासिल करने वाली लड़कियों और महिलाओं की कहानी पढ़ी होगी। आज की कहानी भी इसी संदर्भ में है। महज 26 वर्ष की उम्र में विदेश में रहकर वे प्रत्येक वर्ष लगभग 22 लाख रुपए कमा दूसरों के लिए प्रेरणा कायम कर रही हैं।

ज्योति सिरसवा राजस्थान की झुंझुनू जिले के परसराम गांव की रहने वाली हैं। उनके पिता का नाम शिवदान सिरसवा है जो रियल स्टेट का कार्य करते हैं। उनकी माता मंजू देवी हैं जो एक गृहिणी हैं। ज्योति ने अपनी दसवीं कक्षा तक की पढ़ाई गांव से ही पूरी की इसके बाद उसने इंटरमीडिएट नवलगढ़ से किया। इसके बाद उन्होंने नवलगढ़ के ही पोद्दार कॉलेज से बीसीए का कोर्स किया। बीसीए के दौरान हीं उन्होंने छोटे-छोटे ऐप बनाने का काम भी करने लगी। धीरे-धीरे ज्योति की रूचि मोबाइल ऐप बनाने में अधिक बढ़ गई। ज्योति ने पोद्दार कॉलेज से बीसीए की डिग्री हासिल करने के बाद जयपुर के आईआईआईएम (IIIM) कॉलेज से एमसीए में नामांकन करवाया। इसके लिए उनके परिवार वालों ने पूरा सहयोग दिया। एमसीए की पढ़ाई के दौरान ज्योति ऐप बनाने क्या अपने कार्य को जारी रखा।

ज्योति मैं काबिलियत कूट-कूट कर भरी थी जब वह एमसीए के चौथे सेमेस्टर में थी तभी उन्होंने बीआर सॉफ्टेक कंपनी में 8000 मासिक तनख्वाह पर नौकरी करना शुरू कर दिया था। शुरुआत इस नौकरी के बाद ज्योति को 6 महीने बाद जयपुर में कंटेंट इन्फो सॉल्यूशन में अच्छी नौकरी मिल गई जिसमें उनकी मासिक तनख्वाह ₹40000 थी। इस कंपनी के बाद ज्योति ने एक अमेरिकन कंपनी में मोबाइल ऐप बनाने का काम शुरू किया।

इन दिनों वह दुबई के ए के इन्टरनेशनल में एक टीम को लीड कर रही हैं। यह टीम ए के इंटरनेशनल हेल्थ इंटरफेम प्रोजेक्ट पर कार्य कर रही है। इस प्रोजेक्ट के तहत एक ऐसा मोबाइल ऐप का निर्माण किया जा रहा है जिससे चिकित्सा के क्षेत्र में मदद मिलेगी। मरीज घर बैठे-बैठे चिकित्सा से सलाह ले सकेगा। फिलहाल वह 22 लाख सालाना पैकेज वाली नौकरी कर रही हैं। ज्योति सिरसवा अपनी मेहनत से जिस तरह है से निरंतर सफलता दर सफलता पाती जा रही है वाह युवाओं के लिए एक प्रेरणा स्रोत है। कम उम्र में सफलता के ऊंचे मुकाम को पाना अपने आप में बहुत बड़ी बात होती है। ज्योति ने जिस तरीके से छोटी शुरुआत कर आज एक अच्छे मुकाम को पाया है वह उनकी काबिलियत को दर्शाता है।