कहते हैं कि इरादे बुलंद हो तो कोई भी लक्ष्य हासिल किया जा सकता है। इसे साबित कर दिया है बिहार के भागलपुर जिले के रहने वाले आकाश कुमार सिंह ने।उन्होंने कलर्स टीवी पर आने वाला शो हुनरबाज़ में आकाश ने एरियल आर्ट और फ्लाइंग पोल पर अपना जौहर दिखाकर रियलिटी शो हुनरबाज का खिताब जीत लिया है। वे भागलपुर के सबौर के जमसी गांव के रहने वाले हैं।

आकाश को इनाम के तौर पर 15 लाख रुपए का चेक मिला है। हुनरबाज के ग्रैंड फिनाले में नीतू सिंह और नोरा फतेही ने आकाश को ट्रॉफी दी। इस शो की जज परिणीति चोपड़ा, मिथुन चक्रवर्ती और करण जौहर थे। 22 जनवरी से हुनरबाज देश की शान रियलिटी शो की शुरुआत हुई थी। आकाश ने अपने प्रदर्शन से सभी जजों का दिल जीत लिया था। रविवार को ग्रैंड फिनाले आयोजित किया गया था, जिसमें आकाश को यह खिताब मिला।

आकाश ने मीडिया से बताया कि वे इस रुपए से मम्मी पापा के लिए गांव में मकान बनवाना चाहते हैं। गांव में उनका कच्चा मकान हुआ करता था। इसके अलावा अपने मम्मी पापा को मुंबई और शिरडी घुमाना चाहते हैं। उन्होंने बताया कि गांव में लोग उनका मजाक उड़ाते थे लेकिन अब उनके पापा के साथ सेल्फी लेने के लिए तैयार है।

आकाश बताते हैं कि, अपने खाने पीने के खर्चे के लिए मैंने अखबार से लेकर दूध बेचा। उसके बाद रात में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करने लगा और दिन में  प्रैक्टिस करता था। हुनरबाज के लिए सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी से कुछ दिनों के लिए ब्रेक लिया है। आकाश का भागलपुर से मायानगरी मुंबई का सफर काफी पीड़ादायक है। आकाश का बचपन एक रूम के खपरैल के घर में बीता। अभी भी आकाश की मां मिट्टी के चूल्हे पर खाना बनाती हैं।