बिहार में शुरू से ही प्रतिभा के भंडार के की कमी नही हैं। आज देश के हर जगहों पर बिहारी दिमाग का जिक्र अक्सर आता ही रहता है। लोग मुहावरे के तौर पर बिहारवासियों के कार्य-कला-कौशल की तारीफ कर देते हैं। इसी कड़ी में बिहार का एक जिला इन दिनों चर्चा का केंद्र बना हुआ हैं। बिहार के बढई ने अपने दिमाग से बड़े बड़े इंजीनियरिंग के छात्रों को मात देते हुए बिना ईंट के सिर्फ सीमेंट और रेत से ही पक्का मकान को खड़ा कर के कमाल कर दिया है।

बिहार के इस जिले में बढ़ई ने किया कमाल, बिना ईंट के ही खड़ा किया पक्का मकान

जानकारी के मुताबिक इंजीनियरिंग का अद्भुत नमूना बिहार के भागलपुर जिले से सामने आया है। यहां एक बढ़ाई ने जब देखा की ईट महंगी हो गई तो उन्होंने अपनी कलाकारी से केबल रेत और सीमेंट की सहायता से ही उन्होंने एक शानदार मकान खरा कर दी जिसके बाद जिलों में सनसनी मचा दी है।

दरअसल ईंट की महंगी दरों से परेशान होकर बढ़ई मिस्त्री ने न केवल अनूठा प्रयोग किया, बल्कि ईंट रहित पक्के का मकान का निर्माण कर लोगों को हैरान कर डाला। आपको बता दूँ की इस तरह का अनूठा घर को बिहार के भागलपुर घोघा थाना क्षेत्र के पन्नुचक निवासी गणपति शर्मा ने घर बना कर लोगो को चौंका दिया। वही ईंट की मंहगी दरों से परेशान होकर बढ़ई मिस्त्री गणपत शर्मा ने एक अनूठा प्रयोग करते हुए ईंट रहित पक्के का मकान निर्माण कर दिया।

मकान निर्माण में आई 30 प्रतिशत कम लागत

वही अगर इस मकान की बात करे तो यह मकान बहुत ही शानदार होने के साथ साथ इसमें कुल तीन कमरा और एक बरामदा के साथ अंडरग्राउंड कमरा भी है। वही मकान का बाकी हिस्सा का अभी निर्माण किया जा रहा है। अगर इस माकन के दिवार की बात करे तो इसका दिवार आठ ईंच मोटी है, और इस दिवार को रेत और सीमेंट को मिला कर छत की ढाल दिया गया है।

वही इसकी निर्माण की कुल लगत की बात करे तो इसके निर्माण में खर्च बाकि मकान से 30 प्रतिशत कम आई है। वही मकान निर्माण में राज मिस्त्री ने परिवार के सदस्यों के सहयोग से ईंट रहित मकान का निर्माण किया गया है। वही अब इस कारनामे के बाद यह बिना ईंट से बने यह मकान चर्चा का विषय बना हुआ है। दूर-दूर से लोग इस मकान को देखने आ रहे हैं।