बिहार के यातायात को बेहतर करने के लिए एक और फोर लेन का नाम जुड़ने जा रहा है। पटना औरंगाबाद के बीच एक शानदार हाईवे का निर्माण किया जाना है। इसके निर्माण के लिए डीपीआर बनाने हेतु टेंडर जारी कर दिया गया है। माना जा रहा है कि अगस्त महीने तक डीपीआर मंजूरी दे दी जाएगी। जिसके बाद फोरलेन का निर्माण शुरू हो जाएगा।

बता दे कि डालटेनगंज औरंगाबाद-पटना हाईवे का डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट टेंडर निकल चुका है। विभिन्न एजेंसियों से टेंडर आमंत्रित किया गया है। बता दें कि अगले माह 23 या 24 तारीख को टेंडर खोला जाना है। फिर एजेंसी को पटना के नौबतपुर से छतरपुर तक सड़कों का ट्रैफिक लोड, फ्लाई ओवर, अंडरपास, बाईपास एवं हर तकनीकी पहलुओं को समझेगी। डीपीआर में चार लाइन में आने वाले खर्च का बजट भी बनेगा। सड़क का ज्वाइन आदि बिंदुओं को केंद्रित किया जाएगा।

औरंगाबाद-पटना हाईवे के फोरलेन होने पर सबसे अधिक औरंगाबाद के व्यवसायी, नौकरी-पेशा करने वाले और छात्रों को लाभ होगा। रोजगार के नए अवसर सृजित होंगे। फिलहाल औरंगाबाद से पटना के लिए बस और ट्रैवल से लोग लगभग 4 घंटे में सफर तय करते हैं। जबकि आपने ही प्राइवेट वाहनों से कितनी दूरी तय करने में तीन से साढ़े तीन घंटे का वक्त लगता है। औरंगाबाद से पटना की दूरी 130 किलोमीटर है। फोरलेन बन जाने के बाद 60 की रफ्तार से भी गाड़ी चलती है तो 2 घंटा 10 मिनट में लोग सफर तय कर लेंगे।