पिछले हफ्ते शुरू हुए भारत नेपाल रेल सेवा से बिहार के श्रद्धालु काफी खुश हैं। अब उन्हें नेपाल के कई तीर्थ स्थलों में जाना बेहद आसान हो गया है। इस बार उम्मीद की जा रही है कि रामनवमी पर जनकपुर धाम में भारी भीड़ उमड़ेगी। पहले रेल सेवा ना होने की वजह से वहां जाना मुश्किल और महंगा होता था साथ ही समय भी ज्यादा लगता था। अब जयनगर- कुर्था रेल लाइन शुरू होने से आप ही कम समय और कम खर्चे में जनकपुर धाम पहुंचा जा सकता है।

44 रुपए में जयनगर से जनकपुर धाम।

जयनगर से भारतीय 44 रुपये का टिकट लेकर जनकपुर पहुंचा जा सकता है। नेपाल के व्यवसायियों की मानें तो रामनवमी में जयनगर और आसपास के इलाके से 10 से 15 हजार श्रद्धालु जानकी मंदिर पहुंचते हैं। इनके अलावा मुजफ्फरपुर, वैशाली, सारण, पटना और सिवान के यात्री भी आते हैं। ट्रेन नहीं चलने से पहले जयनगर से जटहीं बार्डर और वहां से जनकपुरधाम जाना पड़ता था। इसमें कम से कम 200 रुपये खर्च करने पड़ते थे। साथ ही समय भी तीन से चार घंटे लगते थे। ट्रेन से दूरी डेढ़ घंटे की रह गई है।

रामनवमी पर होगी विशेष रौनक।

रामायण के अनुसार राजा जनक की नगरी होने की वजह से जनकपुर धाम हिंदुओं का एक बड़ा तीर्थ स्थल
है। बड़ी संख्या में बिहार से श्रद्धालु जनकपुर धाम पहुंचते हैं। ऐसे में इस वर्ष रामनवमी पर यहां विशेष रौनक होगी। साथ ही पर्यटकों के आवागमन से नेपाल के व्यापार को भी पंख लगेंगे।