बिहार की राजधानी पटना जहां पर बिहार का सबसे पहला तारा मंडल का निर्माण किया गया था। वही आपको बता दूं कि राजधानी पटना में बिहार के कोने-कोने से लोग इस तारामंडल का दीदार करने आते हैं, लेकिन अब जल्द ही तारामंडल का दीदार करने के लिए और तारों के बारे में जानकारी लेने के लिए आपको राजधानी पटना का रुख नहीं करना पड़ेगा। अब जल्द ही आपको राजधानी पटना के अलावा बिहार की एक और जिला में शानदार तारामंडल का निर्माण अपने अंतिम चरण में है।

दरअसल आपको बता दूं कि बिहार का सबसे हाईटेक और बिहार का दूसरा तारामंडल का निर्माण बिहार के दरभंगा में किया जा रहा है। इस तारा मंडल का निर्माण अपने अंतिम चरण में है, इस तारामंडल का निर्माण बिहार सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग की ओर से 73 करोड़ 73 लाख 60 हजार 331 रुपए की लागत से इसका निर्माण कराया जा रहा है। वही यह तारामंडल को करीब 3 एकड़ में फैला होगा वही तारामंडल को दरभंगा के पॉलिटेक्निक कॉलेज के जमीन पर बनाया जा रहा है।

आपको बता दूं कि यह तारामंडल अपने आप में बेहद ही खास और शानदार होगा जहां पर आप को इस तारा मंडल में 300 सीट का ऑडिटोरियम भी देखने के लिए मिलेगा और छत पर पाथवे और रूप गार्डन भी विकसित किया जा रहा है, ताकि लोग प्राकृतिक को और नजदीक से निहार सके, वही इस तारामंडल का निर्माण पूरा होने की बात करें तो बताया जा रहा है कि इस तारामंडल का निर्माण 21 मई तक कर दिया जाएगा और दर्शकों के लिए खोल दिया जाएगा।

आपको बता दूं कि अब तक दरभंगा को कई शानदार सौगात मिल चुके हैं जहां पर दरभंगा एयरपोर्ट और दरभंगा एम्स वहीं अब तीसरा सबसे बड़ा सौगात दरभंगा और मिथिला वासियों को तारामंडल का सौगात मिलने वाला है आपको बता दूं इस तारा मंडल के बनने से लोगों को रोजगार और शिक्षा के क्षेत्र में बढ़ावा मिलेगा।