पटना. बिहार के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव इन दिनों अपने काम करने के अंदाज के लिए खूब सुर्खियां बटोर रहे हैं. दरअसल तेजस्वी यादव जहां अपने विभाग में नौकरी देने की बात कर रहे हैं वहीं सोशल मीडिया के जरिये लोगों को मदद पहुंचाकर बिहार में एक नई शुरुआत करते  नजर आ रहे हैं. खासकर स्वास्थ्य मंत्री का पद संभालने के बाद तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया के सहारे लोगों को मदद पहुंचाई है. ऐसा ही एक मामला आज तब देखने को मिला जब एक युवक ने अपने पिता के इलाज के लिए आईजीआईएमएस में बेड दिलाने के लिए ट्विटर पर गुहार लगाई, जिसके बाद तेजस्वी यादव ने तुरंत युवक को मदद पहुंचाई.

मिली जानकारी के अनुसार रजनीश नामक युवक ने ट्विटर पर लिखा कि पिता के लंग्स में इन्फेक्शन हो गया है और वह सीरियस हो गए हैं. तत्काल बेड की जरूरत है, मदद करें. इस ट्वीट को तेजस्वी यादव ने तत्काल नोटिस लेते हुए युवक से फोन नंबर मांगा और आईजीआईएमएस में बेड दिलवाने का काम किया. वहीं युवक ने भी बेड मिलने के बाद शुक्रिया देते हुये कहा कि हमे बेड मिल गया है, आपके इस प्रयास के लिए बहुत शुक्रिया.

सोशल मीडिया पर एक्टिव रहते हैं तेजस्वी यादव 

अब ऐसे में तेजस्वी यादव की यह कोशिश बिहार में चर्चा का विषय बन गई है. युवा मंत्री होने के नाते सोशल मीडिया के जरिए लोगो की मदद पहुंचाने की कोशिश की जमकर तारीफ हो रही है. लोग सोशल मीडिया पर उनके इस प्रयास की सराहना कर रहे हैं. बता दें, तेजस्वी यादव सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं. खासकर वह लोगों के ट्वीट पर खास नजर रखते हैं. बीते दिनों एडीएम द्वारा घायल अभ्यर्थी से संबंधित ट्वीट पर तेजस्वी यादव ने अपनी प्रतिक्रिया दी थी.

स्वास्थ्य विभाग की सूरत बदलने में जुटे तेजस्वी यादव 

बिहार में स्वास्थ्य विभाग की कई ऐसी तस्वीर सामने आती है जो प्रदेश के हेल्थ सिस्टम पर बड़े सवाल खड़े करती है. स्वास्थ्य मंत्री तेजस्वी यादव ने शुरुआत करते हुए विभाग को बेहतर करने की कोशिश की है. स्वास्थ्य मंत्री बनने के फौरन बाद उन्होंने पीएमसीएच का जायजा लिया और गड़बड़ियों को देखते हुए फौरन ठीक करने का निर्देश दिया. बता दें, कुछ दिन पहले ही पहले जूनियर डॉक्टरों ने हड़ताल किया जिसे खत्म किया गया। देखने वाली बात है की क्या यह कोशिश स्वास्थ्य विभाग की तस्वीर बदलने के लिए  काफी है।