पटना. बिहार में सत्तारूढ़ बीजेपी और जनता दल युनाइटेड (जेडीयू) के बीच की खाई बढ़ती जा रही है। दोनों पार्टियों के नेताओं के द्वारा दिए जाने वाले बयानों का तीर ऐसे तल्ख हो गए है कि बीजेपी ने अब नीतीश कुमार की जगह अपना मुख्यमंत्री (Chief Minister) बनाने की मांग कर डाली है। सासाराम (Sasaram) से बीजेपी के सांसद छेदी पासवान (Chedi Paswan) ने इसके लिए ढाई-ढाई साल का फॉर्मूला दे डाला है। उन्होंने कहा कि 2010 में बिहार में एनडीए की सरकार (NDA Government) बनने पर ढाई साल नीतीश कुमार (Nitish Kumar) मुख्यमंत्री रहे, इसलिए इसके बाद के ढाई साल बीजेपी को देना चाहिए।

छेदी पासवान ने नीतीश कुमार पर हमला बोलते हुए कहा कि वो बिना कुर्सी के नहीं रह सकते। मुख्यमंत्री पद के लिए नीतीश कुमार किसी से भी हाथ मिला सकते हैं। वहीं, छेदी पासवान के बयान पर जेडीयू ने पलटवार करते हुए कहा कि उन्हें आईना देखना चाहिए। पहले वो अपने सीनियर नेताओं से बात कर लें। नीतीश कुमार की साख बिहार के साथ पूरा देश जानता है।

BJP-JDU के घमासान पर विपक्ष को बोलने का मौका मिला

बीजेपी और जेडीयू के बीच चल रहे घमासान ने विपक्ष को भी बोलने का मौका दे दिया है। छेदी पासवान के ढाई-ढाई साल के फॉर्मूले पर बिहार कांग्रेस के प्रवक्ता राजेश राठौर ने चुटकी लेते हुए पूछा कि बीजेपी नया फॉर्मूला देते हुए अपना मुख्यमंत्री बनाने की बात कहने लगी है, आखिर बीजेपी का यहां मुख्यमंत्री कौन होगा?

बता दें कि छेदी पासवान पहले जेडीयू के हिस्सा थे, मगर वर्ष 2014 के लोकसभा चुनाव में टिकट के लिए उनके नाम पर विचार न किए जाने के विरोध में उन्होंने पार्टी से इस्तीफा दे दिया था और बीजेपी में शामिल हो गए थे। जेडीयू में रहने के दौरान छेदी पासवान नीतीश कुमार की सरकार में कैबिनेट मंत्री थे।