पटनाः बिहार विधानसभा की बोचहां सीट (Bihar Assembly Bochahan seat) पर होने वाले उपचुनाव को लेकर तमाम पार्टियों में अपने उम्मीदवार उतारने को लेकर होड़ मची है। वीआईपी पार्टी द्वारा पहले से तय उम्मीदवार अमर पासवान द्वारा राजद का दामन थाम लेने के बाद वीआईपी पार्टी ने बोचहां उपचुनाव के लिए अपने नए उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर दी है। अब रमई राम की बेटी डॉक्टर गीता कुमारी (Geeta Kumari On Tejasvi Yadav) वीआईपी पार्टी की टिकट पर ये चुनाव लडेंगीं। वीआईपी पार्टी से उम्मीदवारी की घोषणा के बाद गीता कुमारी ने तेजस्वी यादव पर जोरदार निशाना साधा।

वीआईपी उम्मीदवार गीता कुमारी ने जीत का दावा करते हुए तेजस्वी यादव को खूब खरी खोटी सुनाई। उन्होंने कहा कि आज तेजस्वी यादव ने मेरे साथ धोखा किया है। यहां तक कि मुझे राबड़ी आवास 10 सर्कुलर रोड में घुसने नहीं दिया गया। गीता कुमारी ने आरोप लगाया कि राजद ने अमर पासवान के हाथ टिकट बेच दिया है।

‘दलित और शोषित की राजनीति का ढोंग करने वाले तेजस्वी कभी मुख्यमंत्री नहीं बन सकते। क्योंकि उन्होंने दलितों का अपमान किया है। तेजस्वी यादव ने मेरे साथ धोखा किया और अमर पासवान के हाथ टिकट बेच दिया है। जनता सब जानती है और जनता इस बार उसका जवाब देगी’- डॉक्टर गीता कुमारी, उम्मीदवार वीआईपी पार्टी, बोचहा विधानसभा

बता दें कि बिहार विधानसभा की खाली हुई बोचहां सीट के लिए राजनीतिक उठापटक जारी है। तेजी से बदलते घटनाक्रम के अनुसार वीआईपी पार्टी द्वारा पहले से तय उम्मीदवार अमर पासवान को राजद ने अपना उम्मीदवार बना लिया, तो राजद से अपनी बेटी को टिकट ना मिलने से नाराज होकर रमई राम ने वीआईपी का दामन थाम लिया और अपने बेटी डॉक्टर गीता कुमारी का टिकट पक्का करवा लिया।

दरअसल बोचहां विधानसभा सीट वीआईपी पार्टी के विधायक मुसाफिर पासवान के निधन के बाद खाली हुई थी। लेकिन पारंपरिक सीट होने के चलते बीजेपी ने अपनी प्रदेश महामंत्री बेबी देवी को बोचहां सीट पर उम्मीदवार बना दिया। जिससे वीआईपी चीफ मुकेश सहनी नाराज हो गए क्योंकि वीआईपी की सीट होने के कारण मुसाफिर पासवान के बेट अमर पासवान को वहां से उम्मीदवार होना था। इस बीच राजद ने अमर पासवान को अपने टिकट पर चुनाव लड़ने की रजामंदी दे दी और अमर पासवान राजद में शामिल हो गए।

अमर पासवान के राजद में शामिल होने से मुकेश सहनी को एक और झटका लगा। जिससे बाद मुकेश सहनी ने राजद नेता रमई राम की बेटी डॉक्टर गीता कुमारी को वीआईपी पार्टी से टिकट देकर अपना उम्मीदवार बना लिया। हालांकि गीता कुमारी ने कहा कि वो पहले तेजस्वी यादव के पास टिकट के लिए गईं थी। लेकिन तेजस्वी ने उनका अपमान किया। जिससे वो काफी नाराज भी दिखीं। इस विधानसभा सीट पर 12 अप्रैल को मतदान होना है। 16 अप्रैल को चुनाव परिणाम घोषित होंगे। अब देखने वाली बात ये है कि जनता इस सीट पर किसे जीत दिलाती है।