बिहार लोक सेवा आयोग ( बीपीएससी ) ने राज्य के उच्‍च माध्‍यमिक विद्यालयों में हेडमास्टर यानी प्रधानाध्‍यापक के 6421 पदों पर भर्ती का नोटिफिकेशन जारी कर दिया है। इच्छुक व योग्य उम्मीदवार bpsc.bih.nic.in या onlinebosc.bihar.gov.in पर जाकर 5 मार्च से ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। इसके लिए अभ्यर्थी 28 मार्च 2022 तक आवेदन कर सकते हैं। आवेदन में त्रुटि सुधार 4 अप्रैल तक कर सकते हैं। यहां जानें भर्ती से जुड़ी योग्यता, चयन, सैलरी व परीक्षा समेत 10 खास बातें।

शैक्षणिक योग्यता

  • कम से कम 50 प्रतिशत अंकों के साथ पीजी उत्तीर्ण होना आवश्यक। एससी-एसटी, ईबीसी, बीसी, दिव्यांग, महिला और आर्थिक रूप से कमजोर अभ्यर्थियों को अंक संबंधी शर्त में पांच प्रतिशत की छूट दी गई है। यानी वह पीजी में 45 प्रतिशत मार्क्स के साथ आवेदन कर सकते हैं।
  • अभ्यर्थी बीएड/ बीएएड/ बीएससी एड पास हो।
  • 2012 या उसके बाद शिक्षक पात्रता परीक्षा (टीईटी) पास हो।
अनुभव संबंधी योग्यता
  • राज्य सरकार के विद्यालय में पंचायती राज संस्था एवं नगर निकाय के अधीन माध्यमिक शिक्षक पद पर न्यूनतम 10 वर्ष की लगातार सेवा।
  • सीबीएसई, आइसीएसई, बीएसईबी से स्थायी संबद्धता प्राप्त विद्यालय में माध्यमिक शिक्षक के पद पर न्यूनतम 12 वर्ष की लगातार लगातार सेवा।
  • राज्य सरकार के विद्यालय में पंचायती राज संस्था एवं नगर निकाय के तहत उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद पर न्यूनतम 8 वर्ष की लगातार सेवा।
  • सीबीएसई, आइसीएसई, बीएसईबी से स्थायी संबद्धता प्राप्त विद्यालय में उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद पर न्यनूतम आठ वर्ष की लगातार सेवा।

सभी अनुभव संबंधित प्रमाण पत्र 28 मार्च, 2022 के पहले का होना चाहिए।

आयु सीमा

  • पंचायत व नगर निकाय के अधीन कार्यरत शिक्षक के लिए न्यूनतम एवं अधिकतम आयु सीमा अलग से निर्धारित नहीं की जाएगी। सीबीएसई, आइसीएसई, बीएसईबी से संबद्धता प्राप्त विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों के लिए एक अगस्त, 2021 को न्यूनतम आयु 31 वर्ष एवं अधिकतम 47 वर्ष होनी चाहिए।
  • आरक्षित श्रेणी में सरकार के प्रविधान के अनुसार छूट दी जाएगी।

सैलरी

इन पदों पर चयनित व्यक्तियों के लिए वेतनमान 35 हजार रुपए निर्धारित किया गया है। इसके अलावा राज्‍य सरकार की ओर से अनुमान्‍य भत्‍तों का भुगतान भी किया जाएगा।

नियुक्ति लिखित परीक्षा से होगी

इसके पहले प्राचार्यों की नियुक्ति परीक्षा के आधार पर नहीं होती थी। प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति साक्षात्कार और अनुभव के आधार पर होती रही है। पहली बार 6421 प्रधानाध्यापकों की नियुक्ति परीक्षा के आधार पर होगी।

इस भर्ती में साक्षात्कार नहीं लिया जाएगा।

लिखित परीक्षा व पैटर्न

परीक्षा में 150 प्रश्न पूछे जाएंगे। सभी प्रश्न बहुविकल्पीय होंगे। इसमें सामान्य अध्ययन से 100 अंक एवं बीएड कोर्स से संबंधित 50 अंकों की परीक्षा होगी। यह परीक्षा ओएमआर शीट पर ली जाएगी। प्रत्येक प्रश्नों के लिए एक अंक निर्धारित है। परीक्षा की अवधि दो घंटे की होगी।

नेगेटिव मार्किंग

लिखित परीक्षा में प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 अंक काटे जाएंगे। प्रश्न अनुत्तरित होने पर शून्य अंक देय होगा।

क्वालिफाइंग मार्क्स

लिखित परीक्षा में सामान्य वर्ग के उम्मीदवारों को 40 प्रतिशत, पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों के लिए 36.5 प्रतिशत, अत्यंत पिछड़ा वर्ग के उम्मीदवारों को 34 प्रतिशत और एससी-एसटी, महिलाओं व दिव्यांग उम्मीदवारों के लिए 32 प्रतिशत न्यूनतम क्वालिफाई अंक है।