बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार के पहले मंत्रिमंडल विस्तार की तैयारी लगभग पूरी हो चुकी है. नये मंत्रियों को 16 अगस्त को शपथ दिलाई जाएगी. नीतीश कुमार की नई कैबिनेट में जदयू, राजद, कांग्रेस, भाकपा व हम कोटे से करीब 30-32 मंत्रियों को शामिल किये जाने की संभावना है. शनिवार को दो दिनों के दिल्ली प्रवास से पटना लौटे उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव ने देर शाम मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की.

मुख्यमंत्री से तेजस्वी यादव ने की मुलाकात
मिली जानकारी के अनुसार दोनों नेताओं के बीच शनिवार शाम को हुए मुलाकात में कैबिनेट के संभावित स्वरूप को लेकर विस्तार से चर्चा हुई. नयी कैबिनेट में जदयू के कोटे से कांग्रेस और हम के मंत्री बनेंगे, जब्कि राजद के कोटे से भाकपा को मंत्रिमंडल में जगह दिये जाने की संभावना है. विधानसभा की संख्या बल के अनुसार मंत्रिमंडल में अधिकतम 36 मंत्रियों को शामिल किया जा सकता है. 

कांग्रेस कोटे के मंत्रियों की संख्या तय 
शनिवार को बिहार कांग्रेस के प्रभारी भक्त चरण दास ने कहा कि बिहार की नई महागठबंधन सरकार में कांग्रेस कोटे के मंत्रियों की संख्या तय की जा चुकी है. मंत्रिमंडल का विस्तार 16 अगस्त को  हो सकता है. हालांकि उन्होंने इस बात को बताने से इन्कार कर दिया कि नीतीश कुमार की अगुआई वाली सरकार में कांग्रेस कोटे के कितने मंत्री शामिल होंगे. लेकिन ऐसा माना जा रहा है कि संख्या बल के अनुपात में कांग्रेस के तीन विधायकों को नई सरकार में मंत्री बनाया जाएगा. 

भाकपा माले सरकार में नहीं होगी शामिल
वहीं, 12 विधायकों वाली भाकपा माले ने ये साफ कर दिया है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाली महागठबंधन सरकार में उनकी पार्टी भागीदार नहीं होगी. पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव दीपंकर भट्टाचार्य ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात कर कहा कि नयी सरकार को भाकपा माले बाहर से समर्थन देती रहेगी.