सनातन धर्म में चैत्र नवरात्रि पर्व का विशेष महत्व है और श्रद्धालु पूरी आस्था के साथ इस देवी पर्व को मनाते हैं। इस साल Chaitra Navratri की शुरुआत 02 अप्रैल दिन शनिवार से हो रही है। हर साल चैत्र नवरात्रि चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि से शुरू होती है और नवमी तिथि तक चलती है। दशमी तिथि को पारण किया जाता है और व्रत को पूरा किया जाता है।

इस बार पूरे 9 दिन रहेगा नवरात्रि पर्व

भारतीय पंचांग के अनुसार कई बार तिथियां घटती और बढ़ती हैं। कोई तिथि 24 घंटे से अधिक और कोई तिथि 12 घंटे से कम की भी हो सकती है। ऐसे में कई बार तिथियों का लोप हो जाता है, जिससे चैत्र नवरात्रि पर्व के दिनों की संख्या में कम ज्यादा हो जाती है। वैसे सामान्य तौर पर Chaitra Navratri पर्व 9 दिन को होता है लेकिन तिथियां बढ़ने पर यह 10 का भी हो सकता है और तिथियों के लोप होने पर नवरात्रि पर्व 7 या 8 दिन का भी हो सकता है। अब इस साल चैत्र नवरात्रि पूरे 9 दिन की है।

चैत्र नवरात्रि के 9 दिन होते हैं शुभ

चैत्र नवरात्रि में मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की आराधना 9 दिन तक की जाती है। इस साल चैत्र नवरात्रि 02 अप्रैल से प्रारंभ होकर 11 अप्रैल को पारण के साथ समाप्त होगी।

चैत्र नवरात्रि 2022 की तिथियां

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की प्रतिपदा तिथि, 02 अप्रैल, पहला दिन: मां शैलपुत्री की पूजा, कलश स्थापना

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की द्वितीया तिथि, 03 अप्रैल, दूसरा दिन: मां ब्रह्मचारिणी की पूजा

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि, 04 अप्रैल, तीसरा दिन: मां चंद्रघंटा की पूजा

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी तिथि, 05 अप्रैल, चौथा दिन: मां कुष्मांडा की पूजा

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि, 06 अप्रैल, पांचवा दिन: देवी स्कंदमाता की पूजा

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि, 07 अप्रैल, छठा दिन: मां कात्यायनी की पूजा

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि, 08 अप्रैल, सातवां दिन: मां कालरात्रि की पूजा

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की अष्टमी तिथि, 09 अप्रैल, आठवां दिन: देवी महागौरी की पूजा, दुर्गा अष्टमी

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि, 10 अप्रैल, नौवां दिन: मां सिद्धिदात्री की पूजा, राम नवमी

– चैत्र माह के शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि, 11 अप्रैल, दसवां दिन: नवरात्रि का पारण, हवन