पटना: लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास) के प्रमुख चिराग पासवान (Lok Jan Shakti Party LJSP) ने शुक्रवार को जातीय जनगणना को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर निशाना साधते (Chirag paswan targets nitish tejashwi meeting) हुए कहा कि जातीय जनगणना पर नहीं कुर्सी बचाने पर बात (Chirag paswan on Caste census ) हो रही है। उन्होंने कहा जातीय जनगणना के लिए आपको कौन रोक रहा है। आप तो प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं।

जातिगत जनगणना से कोई लेना-देना नहीं:

बिहार के जमुई सांसद चिराग पासवान ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव जातीय जनगणना की बात कर रहे हैं, लेकिन इन्हें जातिगत जनगणना से कोई लेना देना नहीं है। उन्होंने बंद कमरे में दोनो नेताओं की हुई बातचीत पर कटाक्ष करते हुए कहा बिहार में जातिगत जनगणना के लिए बंद कमरे में कौन बात हो रही है। चिराग ने कहा कि जातीय जनगणना के लिए उन्हें कौन रोक रहा है, वे तो प्रदेश के मुख्यमंत्री हैं। केंद्र सरकार ने आपको स्पष्ट कर दिया कि वे जातिगत जनगणना नहीं कराने वाले हैं।

”सर्वदलीय प्रतिनिधिमंडल के साथ मुख्यमंत्री देश के प्रधानमंत्री से मुलाकात भी कर चुके हैं, उस समय भी नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव उनके साथ थे। अब परेशानी कहां है कि आपको बंद कमरे में बातचीत करने की क्या जरूरत पड़ गई। जातीय जनगणना के लिए नहीं, कुर्सी पर बने रहने पर बात हो रही है।” – चिराग पासवान, अध्यक्ष, लोक जनशक्ति पार्टी (रामविलास)

आरजेडी से गठबंधन पर बोले चिराग:

आरजेडी के साथ जेडीयू के फिर से जाने के संबंध में पूछे जाने पर चिराग ने कहा कि क्यों नहीं हो सकता? सवालिया लहजे में उन्होंने कहा कि वर्ष 2015 में राजद के साथ गठबंधन हुआ, वर्ष 2017 में भाजपा के साथ आए किसी को खबर लगी थी, इसलिए जातीय जनगणना की बात ही नहीं है। असल मामला है कुर्सी बचाना. बता दें कि दो दिन पूर्व तेजस्वी यादव मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के आवास पहुंचे थे और मुख्यमंत्री से बंद कमरे में बातचीत की थी।