पटना: बिहार में होली (Holi festival in Bihar) की धूम है। रंगों वाली होली को हर कोई खास बनाने में लगा है। ऐसे में बात अगर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Did Not Celebrate Holi) की होली की करें तो सीएम सादगी भरा ही होली खेलते रहे हैं।लेकिन पिछले 5-6 सालों की बात करें तो किसी ना किसी कारण से उन्हें होली नहीं मनाने का फैसला लेना पड़ा है। पिछले दो सालों से होली पर कोरोना वायरस का असर देखने को मिला। सीएम नीतीश कुमार ने भी कोरोना के कारण दो साल होली नहीं मनाई। सीएम आवास पर होली के अवसर पर कोई आयोजन भी नहीं हुआ था।

मुख्यमंत्री आवास में सन्नाटा:

मुख्यमंत्री आवास में बड़ी संख्या में कार्यकर्ता, पार्टी के नेता और आम लोग भी होली के मौके पर पहुंचते थे। मुख्यमंत्री सबको गुलाल लगाते थे लेकिन पिछले पांच-छह सालों से मुख्यमंत्री आवास में कार्यक्रम आयोजित नहीं हो रहा है। हालांकि पार्टी के नेताओं ने होली मिलन का समारोह आयोजित किया और उसमें मंत्री से लेकर पार्टी के आम कार्यकर्ता शामिल हुए। लेकिन मुख्यमंत्री आवास सुना सुना है। मुख्यमंत्री आवास एक अन्ने मार्ग (Holi in Mukhyamantri Awas Ek Anne Marg) में होली के मौके पर सुबह से शाम तक आम से खास सभी के लिए गेट खुला रहता था। सुबह से कार्यकर्ताओं की भीड़ दिखती थी लेकिन इस बार भी सुरक्षाकर्मियों और सीएम आवास में काम करने वाले कर्मचारियों को छोड़ दें तो कहीं कोई नजर नहीं आया।

जन संवाद यात्रा पर CM:

इस बार भी मुख्यमंत्री आवास में सन्नाटा पसरा है। सीएम नीतीश (CM Nitish Kumar in Nalanda) जन संवाद यात्रा पर हैं। इसी को लेकर गुरुवार को अपनी कर्म भूमि रहुई प्रखंड पहुंचे। जहां उन्होंने रास्ते में मोरातालाब, इतासंग, भादवा, गैबी और रहुई बाजार में घंटों कड़ी धूप में खड़े रहे कार्यकर्ताओं का अभिवादन स्वीकार किया। सीएम नीतीश खुद सड़कों पर घूम-घूमकर एक-एक कार्यकर्ताओं से मिले (CM Nitish met people in Nalanda) और उनकी जन समस्याओं को भी सुना। नीतीश कुमार ने जनसंवाद यात्रा के दौरान पंडाल में पहुंचकर कार्यकर्ताओं से मुलाकात की।

नालंदा में जनता की सुनी समस्याएं:

बता दें कि नीतीश कुमार 17 मार्च से अपने गृह क्षेत्र नालंदा के हरणौत और रहुई दौरे पर हैं। इसके बाद 1 अप्रैल से लेकर 7 अप्रैल तक जिले के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों से मुलाकात कर उनकी समस्याओं को सुनेंगे। नगरनौसा में सीएम के साथ जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन उर्फ ललन सिंह और नालंदा के सांसद कौशलेंद्र कुमार के अलावा कई विधायक और नेता मौजूद रहे।