पटनाः बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन सोसाइटी एवं सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से अधिवेशन भवन में गुरुवार को आयोजित सिविल सेवा दिवस 2022 के समारोह का सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) ने विधिवत शुभारंभ किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने जनकल्याण के लिए उत्कृष्ट कार्य एवं नवाचारी प्रयोग करने वाले सिविल सेवकों को सम्मानित भी किया इस दौरान सीएम ने कहा कि केवल नीति बनाने से काम नहीं होगा, अधिकारी अगर सक्रिय रहेंगे तभी योजनाओं पर काम हो सकेगा।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आगे कहा कि हमलोग शुरू से ही सभी क्षेत्रों में विकास का काम कर रहे हैं। हमने हर घर तक नल का जल, पक्की गली-नाली, शौचालय और बिजली पहुंचा दी है। इन सब ठीक ढंग से एग्जीक्यूशन हुआ है कि नहीं, इसको देखना जरूरी है। निजी यात्रा के दौरान कई जगहों पर इस संबंध में लोग शिकायतें करते हैं जिससे मुझे दुख होता है।

योजनाओं के बारे में चर्चा करते हुए कहा कि हमने सड़क, पुल-पुलियों, स्कूलों एवं अस्पतालों का निर्माण कराया है. महिलाओं के उत्थान, लोगों की नियुक्ति, कमजोर तबके को विकास की मुख्यधारा से जोड़ने सहित सभी क्षेत्रों काम किए गए हैं। विभिन्न विभागों द्वारा कई क्षेत्रों में निर्माण का कार्य कराया गया है. उनका निरंतर रखरखाव करना अति आवश्यक है। सड़कों का निर्माण कराया गया है। अगर उनका मेंटेनेंस नहीं होगा तो लोगों को लाभ नहीं मिल सकेगा। यह सब देखना अधिकारियों की जिम्मेदारी है। सभी जिलों के जिलाधिकारी और जिले के प्रभारी अधिकारी अपने इलाके में जाकर विकास योजनाओं की वर्तमान स्थिति देखते रहें।

काम करने वाले अधिकारी को अधिक प्रतिष्ठा

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि हमलोग अपनी इच्छा से राजनीति में हैं, उसी तरह से आप लोग भी अपनी इच्छा से अधिकारी बने हैं। आप लोग जितना अधिक काम कीजिएगा उतनी अधिक प्रतिष्ठा मिलेगी। काम करने वाले अधिकारियों को लोग राजनीति करने वाले लोगों से अधिक प्रतिष्ठा देते हैं।