मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार और साफ तौर पर कहा कि शराबबंदी का उल्लंघन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। शराबबंदी कानून में कोताही बरतने के लिए पदाधिकारी पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। साथी शराब का सेवन लोग नहीं करें इस को लेकर जागरूकता अभियान चलेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि शराब पियोगे तो मरोगे इसको लेकर लोगों को जागरूक किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने जनता दरबार कार्यक्रम के बाद पत्रकारों से कहा कि मंगलवार को शराबबंदी कानून को लेकर किए जा रहे कार्यों की समीक्षा विस्तार से करेंगे। हर जिले की रिपोर्ट लेंगे। सभी मंत्री, पदाधिकारी और डीएम-एसपी बैठक में मौजूद रहेंगे।

देश की आजादी को लेकर फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के बयान को लेकर पूछे गए सवाल पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि ऐसी बातों को नोटिस ही नहीं लिया जाना चाहिए। मैं इन बातों को नोटिस नहीं लेता। इस पर चर्चा ही नहीं होनी चाहिए। कौन नहीं जानता है कि देश को आजादी कब मिली।

जनता दरबार में एक व्यक्ति की शिकायत पर मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग पर नाराजगी जताई। मुख्यमंत्री ने लोगों को आ रहे अधिक बिजली बिल को लेकर जांच करने की आवश्यक कार्रवाई करने को कहा। मुख्यमंत्री से एक व्यक्ति ने शिकायत की कि वह निरंतर बिजली बिल जमा करते आ रहे हैं, फिर भी 85 हजार का बिल उनको भेजा गया।