पटना: रूस और यूक्रेन में युद्ध (Russia Ukraine War) के चलते करीब 20 हजार भारतीयों के फंसे होने की खबर है। रूसी हमले के बाद यूक्रेन से विमान सेवाएं बंद कर दी गई हैं। ऐसे में वहां रह रहे भारतीय नागरिकों की स्वदेश वापसी की कोशिश जारी है। कुछ छात्र पटना भी पहुंच गए हैं। उन्हें सुरक्षित घर तक छोड़ा जा रहा है। ऐसे में सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar Statement On Stucked Student in Ukraine) ने भी कह दिया है कि जो छात्र आना चाहेंगे उन्हें जरूर लाया जाएगा।

सीएम नीतीश कुमार ने बापू सभागार में समाज सुधार अभियान कार्यक्रम के बाद मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि यूक्रेन से जो भी छात्र आना चाहेंगे, सबको लाया जाएगा। केंद्र सरकार सबको देश वापस ला रही है और उसके बाद बिहार सरकार ने भी पूरी व्यवस्था कर ली है। अभी कुछ फ्लाइट आए हैं और जो भी बिहार के लोग आए हैं, उनको घर तक पहुंचाया जा रहा है। छात्र पढ़ने गए हैं और अब जो स्थिति है, उसके बाद वहां से लौटना चाह रहे हैं तो उन्हें किसी तरह की कोई कठिनाई न हो, इसका इंतजाम किया गया है। अभी कुछ छात्र आए हैं और भी आनेवाले हैं।

आपको बता दें कि यूक्रेन में फंसे बिहार के पांच छात्र (Bihar students returned Patna from Ukraine) आज मुंबई से पटना एयरपोर्ट पहुंचे। इसमें जदयू विधायक राजीव सिंह की बेटी रीमा सिंह (JDU MLA Rajiv Singh daughter) भी शामिल है। रीमा के साथ अन्य बिहारी छात्र पटना एयरपोर्ट (Patna Airport) पहुंच गए हैं। पटना एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद छात्रों ने बताया कि यूक्रेन के हालात बदतर हैं लेकिन अब हम सुरक्षित भारत पहुंच गए हैं। इसके लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देते हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कारण हमें कोई परेशानी नहीं हुई है। यूक्रेन के नागरिकों ने भी हमारी सहायता की। साथ ही रोमानिया के नागरिकों ने भी हमारी मदद की।

यूक्रेन में फंसे बिहार आए 7 छात्र मधेपुरा के सतीश कुमार साहिल, मुजफ्फरपुर के स्मृति पांडे, अरवल के अमित कुमार, भागलपुर के प्रशांत कुमार, सारण की अनमोल मीरा और नालंदा की दिव्या भारती हैं। इन लोगों ने यूक्रेन से दिल्ली एयरपोर्ट पर लैंड किया था। दूसरे जत्थे में यूक्रेन से पटना आए छात्रों में तारापुर के जदयू विधायक राजीव कुमार सिंह की बेटी रीमा सिंह, पटना के चित्रगुप्त नगर के अभिषेक कुमार, पत्रकार नगर के अशोक कुमार और पटना के ही आशीष गिरि शामिल हैं। इनके अलावा बक्सर की सुप्रिया कुमारी और सीतामढ़ी के अभिषेक राज भी पटना आने वाले छात्रों में शामिल हैं। इनका विमान यूक्रेन से मुंबई एयरपोर्ट पर उतारा था।

यूक्रेन में फंसे बिहारियों के लिए जिला प्रशासन ने पटना एयरपोर्ट पर हेल्पलाइन नंबर भी जारी किया है। एयरपोर्ट पर हेल्पलाइन डेस्क में दो पालियों में कर्मियों तैनाती की गई है। नोडल पदाधिकारी इस्तियाक अजमल के साथ दोनों पालियों में अलग-अलग पदाधिकारियों को लगाया गया है। प्रथम पाली सुबह 8 बजे से दोपहर 3 बजे और फिर 3 बजे से रात 9 बजे तक पदाधिकारियों की तैनाती की गई है। आगन्तुकों और परिजनों के सहयोग के लिए DTO पटना के मोबाइल नंबर 9955427102 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

आपको बता दें कि भारत सरकार की यूक्रेन में फंसे भारतीयों को रोमानिया और हंगरी के रास्ते निकालने की योजना है। वहां फंसे छात्रों को सीमा चौकियों पर पहुंचने के लिए कहा गया है। पोलैंड और लिथुआनिया में भारत के दूतावास ने नई एडवाइजरी भी जारी की है, जिसमें कहा गया है कि जो पोलैंड के रास्ते निकलना चाहते हैं वो भारतीय नागरिक सड़क मार्ग से यूक्रेन-रोमानिया सीमा पर बस से पहुंचे। दूतावास ने कहा कि इन सीमा जांच चौकियों के करीब रह रहे भारतीय नागरिकों, विशेष कर छात्रों को विदेश मंत्रालय के दलों के साथ समन्वय कर व्यवस्थित तरीके से रवाना होने की सलाह दी गई है।

यूक्रेन में जारी मौजूदा संकट के मद्देनजर वहां फंसे बिहार के छात्रों एवं अन्य लोगों की सहायता के लिए आपदा प्रबंधन विभाग ने हेल्पलाइन नंबर जारी किया (Bihar Issued Helpline Number) है। इस संबंध में इच्छुक व्यक्ति विभाग द्वारा जारी हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र, आपदा प्रबंधन विभाग बिहार, बिहार भवन, नई दिल्ली और विदेश मंत्रालय, भारत सरकार नई दिल्ली का अलग-अलग हेल्पलाइन नंबर जारी किया गया है। संबंधित व्यक्ति मोबाइल नंबर/टॉल फ्री नंबर या ईमेल के माध्यम से सहायता प्राप्त कर सकते हैं।

इन हेल्पलाइन नंबरों पर कर सकते हैं संपर्कः

. राज्य आपातकालीन संचालन केंद्र, आपदा प्रबंधन विभाग बिहार पटनाः हेल्पलाइन नंबर- 0612-2294204, 06121070 (टॉल फ्री नंबर), +917070290170. ईमेल- seoc-dmd-bihar@bihar.gov.in

. बिहार भवन, नई दिल्लीः 011-23010147, +917217788114, ईमेल- rcbihar@yahoo.in, rescm-bi@nic.in

. विदेश मंत्रालय, भारत सरकार, नई दिल्लीः 1800118797 (टॉल फ्री नंबर), +911123012113, +911123014104, +911123017905, +911123088124, ईमेल- situationroom@mea.gov.in