बिहार में आकाशीय बिजली का तांडव जारी है. वज्रपात से लगातार मौत की खबरें आ रहीं हैं. पिछले 27 जुलाई-28 जुलाई की शाम तक बिहार के जमुई (01), कैमूर (03) और बक्सर (01), गया (03), नवादा (02), रोहतास (01) में 11 लोगों की मौत हो गई. मृतकों के परिजनों को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 4-4 लाख रुपए सहायता देने की घोषणा की है.

बिहार के मौसम विभाग ने फिर सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, मुधबनी, सुपौल, किशनगंज जिले के कुछ भागों में मध्यम मेघ गर्जन के साथ वज्रपात वर्षा का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग की इस चेतावनी को नजरअंदाज बिल्कुल न करें. ऐसे में इन इलाके के लोग पक्के मकानों की शरण ले लें. बिहार में मौसम विभाग की ओर से भी 3 दिनों तक कई जिलों में भारी बारिश और वज्रपात का अलर्ट जारी किया गया है.

आपको बता दें कि आकाशीय बिजली से मौत के मामले में राज्य सरकार द्वारा आपदा राहत कोष से चार लाख रुपये मुआवजा देने का प्रावधान है. बहरहाल मौसम विभाग ने सोमवार की सुबह ही बिहार के 20 जिलों को अलर्ट किया था. जिसमें बताया गया था कि 10-12 जिलों में तेज बारिश होने की संभावना है. जबकि, 8 से 10 जिलों में हल्की बारिश होगी. मौसम विभाग के द्वारा अलर्ट करने के बाद भी कैमूर में चार लोगों की मौत हो गई.