बिहार सरकार अब प्रदेश में तकनीकी शिक्षा को लेकर पहल करने जा रही है। छात्र-छात्राओं को तकनीक और विज्ञान की जानकारी देने के लिए पटना में देश का सबसे बड़ा साइंस सिटी बन रहा है। इसके अलावा राज्य सरकार ने फैसला लिया है कि प्रदेश के सभी 38 जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज बनाया जाएंगे। अभी प्रदेश में तकनीकी शिक्षा का बेहद अभाव है और यहां के छात्र दूसरे प्रदेशों का रुख कर रहे हैं।

31 जिलों में होगा इंजीनियरिंग कॉलेज का निर्माण

जानकारी के अनुसार सात निश्चय योजना के तहत राज्य के 31 जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज के स्थापना की योजना है। इसमें 22 का निर्माण कार्य पूरा हो गया है, जबकि आठ कॉलेजों का निर्माण कार्य प्रगति पर है, जो दिसंबर 2022 तक पूरे हो जायेंगे। इसमें शेखपुरा, खगड़िया, समस्तीपुर, शिवहर, कटिहार, बक्सर, आरा और सीवान शामिल हैं। इसी तरह इस वर्ष दिसंबर तक चार पॉलिटेक्निक कॉलेजों का निर्माण भी पूरा करवा लिया जायेगा। इसमें अरवल, जहानाबाद, पश्चिम चंपारण और भोजपुर शामिल हैं।

पटना में बन रही देश की सबसे बड़ी साइंस सिटी

बता दें कि पटना में 640 करोड़ की लागत से बन रही साइंस सिटी देश की सबसे बड़ी साइंस सिटी होगी। इसमें 200 बच्चों के रहने और कई तरह के प्रयोग की सुविधा होगी। इनके अलावा बड़ी संख्या में प्रखंड कार्यालय, प्रखंड सूचना प्रावैधिकी केंद्र, बाढ़ आश्रय स्थल, वृद्धा आश्रम समेत अन्य का भी निर्माण तेजी से कराया जा रहा है। बिहार में आजादी के बाद पहली बार इतनी बड़ी संख्या में भवनों का निर्माण हो रहा है।