बिहार के आरा में एक युवक ने ऑनलाइन गेमिंग एप ड्रीम-11 से 1 करोड़ रुपये जीते हैं. इसके बाद से युवक को पूरे राज्य में गेम चेंजर के नाम से लोग जानने लगे हैं. आरा जिले के चरपोखरी प्रखंड के ठकुरी गांव के रहने वाले वेंकटेश सिंह के पुत्र सौरभ कुमार ड्रीम-11 के विजेता बने हैं. वह पिछले साल से ही ड्रीम-11 पर टीम बनाकर जीतने की कोशिश कर रहे थे. मगर, सफलता हाथ नहीं लगी थी. इस बार मंगलवार की रात को उन्होंने ड्रीम-11 पर टीम बनाई और वह जीत गए.

इस जीत को लेकर ‘बिहार तक’ की टीम ने सौरभ से बातचीत की. उन्होंने बताया, “उनके साथ मंगलवार को पूरे देश से करीब 65 लाख खिलाड़ी ड्रीम-11 पर टीम बनाकर भाग्य आजमा रहे थे. मैंने ऑस्ट्रेलिया और भारत के मैच में दोनों टीमों के खिलाड़ियों को मिलाकर 11 खिलाड़ियों की अपनी टीम बनाई. 

इस टीम के कप्तान हार्दिक पांड्या थे, जिन्होंने 30 गेंद पर 71 रन की शानदार पारी खेली. हार्दिक पंड्या की पारी का फायदा भारतीय टीम को तो नहीं मिला, लेकिन मुझे इसका भरपूर फायदा मिला. सौरभ कहते हैं कि इस सफलता के पीछे मां और पिता का आशीर्वाद है.

उन्होंने आगे बताया, “कल देर रात ही ड्रीम-11 का वॉलेट अकाउंट चेक किया, तो खाते में 70 लाख रुपये जमा हो गए थे. एक करोड़ की इनामी राशि से 30 लाख रुपये टैक्स के काट लिए गए हैं. यह जानकारी मिलते ही परिवार में खुशी का माहौल हो गया है. एक करोड़ रुपए का पुरस्कार जीतने से बेहद खुश हूं.”

गांव में ही बच्चों को पढ़ाते हैं सौरभ कुमार

सौरभ बीए प्रथम वर्ष के छात्र हैं. सौरभ अपने गांव में ही ट्यूशन पढ़ाते है. उन्हें शुरू से ही क्रिकेट खेलना और देखना अच्छा लगता है. वह तीन भाइयों में दूसरे स्थान पर हैं. इनका बड़ा भाई सागर भोजपुरी गायक है, जबकि छोटा भाई संगम पढ़ाई करता है.

वह लगातार कई सालों से ड्रीम-11 पर भाग्य आजमा रहे थे. विजेता सौरभ के पिता वेंकटेश सिंह ने कहा, “मुझे मालूम भी नहीं था कि बेटा ड्रीम-11 गेम खेल रहा है. कल अचानक पता चला कि वह एक करोड़ रुपये जीत गया है. उसके जीते हुए रुपये उसके आगे भविष्य के लिए काम आएंगे.”