बिहार विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्‍वी यादव (Tejasvi Yadav) ने बजट सत्र के दौरान शुक्रवार को वाद-विवाद में सरकार पर जमकर तीर चलाए। तेजस्‍वी यादव ने कहा‍ कि बिहार स्टार्ट-अप (Start-Up) नीति के अंतर्गत युवाओं में उद्यमिता को बढ़ावा देने के लिए 500 करोड़ के उद्यम पूंजी का प्रावधान किया गया था। मगर इस प्रक्रिया के जटिल होने के कारण 2018 -19 में 5 हजार आवेदन में से मात्र 60 को ही इसका लाभ मिल पाया है। तेजस्‍वी यादव ने शे’र के जरिए अपनी बात को आधार देते हुए कहा कि, किरदार पे शैतान भी शर्मिंदा है… वो भी आये हैं यहां करने नसीहत हमको…।

तेजस्‍वी के तरकश से निकले आंकड़ों पर आधारित 10 तीर

1.तेजस्‍वी यादव ने कहा, एक रिपोर्ट के अनुसार देश में बिहार के किसानों (Farmers) की आय सबसे कम है।

2.औसत हर भारतीय किसान परिवार 77,124 रुपए सालाना कमाता है। वहीं बिहार में यह आय देश में सबसे कम महज 42,684 रुपए है यानि मात्र 6,223 रुपए प्रति महीना।

3.नीति आयोग के MPI (Multi Dimensional Poverty Index) बहुआयामी गरीबी सूचकांक में बिहार देश का सबसे गरीब राज्य है। बिहार की 52 फीसद आबादी गरीब है। गरीबी, पोषण, मातृ स्‍वास्‍थ्‍य और स्‍कूल में बच्‍चों की उपस्थिति इत्यादि मानकों में बिहार सबसे नीचे है।

4.तेजस्‍वी ने नीति आयोग की रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा कि बिहार के 38 में से 22 जिलों में 50 फीसद से अधिक गरीब लोग हैं और 11 जिलों में 61 फीसद से अधिक गरीब लोग हैं।

5.प्रधानमंत्री आर्थिक सलाहकार परिषद (EAC-PM) की ओर से जारी रिपोर्ट के अनुसार 10 साल से कम उम्र के बच्चों में साक्षरता के स्तर को बताने वाले आधारभूत साक्षरता सूचकांक और संख्यात्मक सूचकांक (Foundational Literacy Index & Numeracy Index) में बिहार सबसे नीचे है।

6.महिलाओं का शोषण और कुपोषण बिहार में चरम पर है। राष्ट्रीय ग्रामीण स्वास्थ्य मिशन रिपोर्ट (National Rural Health Mission Report) के अनुसार 70 फीसद महिलाएं 15 से 49 साल आयु वर्ग में कुपोषित हैं।

7.देश में सबसे अधिक महंगी बिजली बिहार में है। तेजस्‍वी यादव ने सदन में ये बात उठाई कि मात्र 350 किलोवाट प्रति व्‍यक्ति बिजली खपत (Per Capita Electricity Consumption) है जो भारत में सबसे कम है। उन्‍होंने अन्‍य राज्‍य का उदाहरण देते हुए कहा कि, यहां तक कि नगालैंड 356 kw, मणिपुर में 371 kw और त्रिपुरा में 514 kw का बिजली प्रति खपत व्‍यक्ति है।

8.लगभग विकास के हर मुद्दे पर सरकार को घेरते हुए तेजस्‍वी यादव ने कहा कि बिहार सरकार की महत्‍वाकांक्षी योजना हर घर नल का जल योजना कुव्यवस्था और भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गया है।

9.तेजस्‍वी ने सदन में कहा कि सरकार की वो योजना जिसमें हर घर तक पक्की गली, नालियों के निर्माण की योजना थी, वह भी भ्रष्टाचार और बिचौलियों के हाथों बर्बाद हो गयी है।

10.तेजस्‍वी ने कहा कि सरकार ने वादा किया था कि भूमिहीन दलित-महादलित को 3 डिसमिल जमीन देगी जो अब तक एक छलावा ही साबित हुआ है।