सावन की पहली सोमवारी के दिन बिहार में बड़ा हादसा हुआ है। घटना सीवान की है जहां के ऐतिहासिक महेंद्रनाथ मंदिर में प्रवेश के दौरान हुई भगदड़ के दौरान भीड़ में दबने से दो महिलाओं की मौत हो गई, जबकि दो महिलाएं गंभीर रूप से घायल हो गईं। इस घटना से थोड़ी देर के लिए मंदिर कैंपस में अफरातफरी का माहौल कायम हो गया। घायल दोनों महिलाओं को सीवान सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनका इलाज चल रहा है।

समय से एंबुलेंस नहीं मिलने से स्थानीय लोगों में आक्रोश देखा गया। घटना के बाद मंदिर परिसर में कुछ देर के लिए अफरातफरी का माहौल बना रहा। बताया जा रहा है कि सावन की पहली सोमवारी की वजह से भगवान शिव पर जलाभिषेक करने के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी थी। श्रद्धालुओं की भीड़ जलाभिषेक के लिए मंदिर में प्रवेश कर रही थी, इसी दौरान भीड़ में तीनों महिलाएं दब गईं, जिसमें से दो महिलाओं की दम घुटने से मौत हो गई, वहीं दो महिलाएं भीड़ में दबने और गिरने से घायल हो गईं।

मंदिर परिसर में सुरक्षा में तैनात सुरक्षाकर्मियों ने भीड़ को नियंत्रित करने का प्रयास कर स्थिति सामान्य किया। मृतका की पहचान हुसैनगंज के प्रतापपुर गांव निवासी लीलावती देवी के रूप में हुई है वहीं दूसरी मृत महिला सोहगमती देवी है जो जीरादेई प्रखण्ड के पठार गांव की रहने वाली बताई जा रही हैं। घायलों की पहचान हुसैनगंज के प्रतापपुर गांव निवासी दीनानाथ यादव की पत्नी अजोरिया देवी और शाहबाजपुर गांव निवासी जनक देव भगत की पत्नी शिव कुमारी देवी के रूप में हुई है।

शव को देखते ही परिजनों में चीख-पुकार मच गई है। बताया जा रहा है कि हादसा उस समय हुआ जब मंदिर का गेट खुला। गेट खुलते ही मंदिर में प्रवेश के लिए अचानक भीड़ बढ़ गई। इस घटना के बाद एसडीपीओ जितेंद्र पांडेय घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की तफ्तीश की। फिलहाल मंदिर में स्थिति सामान्य है।