पटना: बिहार सरकार की अस्थिरता (Bihar government instability) और अल्टीमेटम को लेकर काफी कयास लगाये जा रहे है। कई तरह के दावे किये जा रहे हैं लेकिन जेडीयू के सीनियर नेता और बिहार के शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी (Education Minister Vijay Kumar Choudhary) इसे बेबुनियाद बताया है। उन्होंने कहा है कि नीतीश सरकार को लेकर जो कुछ अटकलें लगाई जा रही हैं, वह सब गलत है। उन्होंने कहा कि जनता दल यूनाइटेड पार्टी ने कहीं भी कोई निर्देश जारी नहीं किया है कि उनके विधायक पटना में रहें। पार्टी के मुख्य सचेतक ने यह सब साफ कर दिया है।

सर्वदलीय बैठक के लिए सभी दलों नहीं भरी हामी:

उन्होंने कहा कि जो बातें मीडिया में आ रही हैं, वह पूरी तरह से गलत हैं। बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में सरकार चल रही है और लगातार बिहार का विकास हो रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि जातीय जनगणना को लेकर जो सर्वदलीय बैठक होनी है, उसकी तिथि 27 मई को निर्धारित है। अभी तक सभी दलों ने इस बैठक में सम्मिलित होने की हामी नहीं भरी है।इसीलिए यह नहीं कहा जा सकता कि जाति जनगणना को लेकर सर्वदलीय बैठक 27 मई को ही होगी। उसकी तिथि में कुछ फेरबदल किया जा सकता है।

‘जब जदयू के मुख्य सचेतक ने बता दिया। आपको सवाल पूछने का शौक है तो पूछते रहिये। वह बिल्कुल निराधार और गलत है। किसी उम्मीदवार का नाम लेकर पूछने की कोई जरुरत नहीं है। कैंडिडेट सेलेक्ट करने की सभी पार्टियों में प्रक्रिया निर्धारित रहती है। वो प्रक्रिया जिस दिन पूरी हो जायेगी, बता दिया जायेगा।’-विजय कुमार चौधरी, जेडीयू नेता और बिहार के शिक्षा मंत्री.

राज्यसभा प्रत्याशी के नाम का ऐलान जल्द:

साथ ही उन्होंने कहा कि राज्यसभा उम्मीदवार के नाम की घोषणा बहुत जल्द कर दी जाएगी। पार्टी ने इसकी प्रक्रिया शुरू कर दी है। पार्टी के सभी नेताओं ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इसको लेकर जिम्मेदारी भी दी है. जहां तक नाम की घोषणा की बात है, बहुत जल्द ही सब कुछ सामने आ जाएगा। मीडिया को उचित समय पर हम लोग बता देंगे। वहीं, केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह के नाम को लेकर पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि किसी खास आदमी को लेकर सवाल मत पूछिए। उम्मीदवार को लेकर जो सवाल आप कर रहे हैं, निश्चित तौर पर जल्द ही जदयू अपने उम्मीदवार के नाम की घोषणा कर देगी।