रात के अंधेरे में प्रेमिका से मिलना प्रेमी को इस कदर महंगा पड़ा कि उसको अपनी जान तक गंवानी पड़ी।मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल में इंजीनयरिंग (Bhopal Engineering Student) की पढ़ाई करने वाले युवक की हत्या चाकू से गला रेतकर (Brutal Murder) की गई साथ ही शव को भी ठिकाने लगाने की कोशिश की गई। लव स्टोरी में मर्डर की ये घटना बिहार के गोपालगंज जिले की है, जिसे पुलिस ने सुलझा लेने का दावा किया है।

इंजीनियरिंग छात्र तबरेज आलम की हत्या के मामले का पुलिस ने 16 दिनों बाद उद्भेदन किया है। छात्र की हत्या के मामले में उसकी प्रेमिका के पिता और मौसा को गिरफ्तार किया है। हत्या में प्रयुक्त चाकू, खून से रंगे कपड़े, मृतक का मोबाइल और पर्स गिरफ्तार आरोपियों के घर से बरामद हुआ है। बेटी के प्रेम संबंधों से खफा होकर प्रेमी की हत्या करने की बात आरोपी ने कबूल किया है। गोपालगंज के एसपी आनंद कुमार ने इसका खुलासा किया है।

हत्या की वजह लड़की का युवक के साथ प्रेम संबंध बताया जा रहा है। तेलियाबांध गांव के नजीबुल्लाह के पुत्र तबरेज आलम भोपाल में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करता था। मृतक तबरेज आलम पिपरा गांव निवासी उमर अली की बेटी से बेइम्तिहान प्यार करता था। वह प्रेमिका के फोन से बुलाने पर 19 फरवरी की रात मिलने उसके घर गया था, जहां लड़की के पिता ने देख लिया और फिर अपने साढ़ू शमी आलम के साथ तबरेज आलम की बेरहमी से पिटाई की और फिर चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी।

वरदात के बाद मृतक के शव को मुजौना नहर के पास फेंक दिया गया जहां से पुलिस ने 20 फरवरी की सुबह शव को कब्जे में लेकर मामले की तफ्तीश शुरू की थी। एसपी ने बताया कि गिरफ्तार प्रेमिका के पिता मांझागढ़ थाना क्षेत्र के पिपरा गांव निवासी उमर अली और उसके मौसा थावे थाना क्षेत्र के इंदरवा निवासी अनवार मियां के पुत्र शमी आलम बताये गये हैं। इन दोनों पर पहले से कई अपराधिक मामले दर्ज हैं। गिरफ्तार दोनों अपराधियों ने मांझागढ़ थाना क्षेत्र के तेलियाबांध गांव के नजीबुल्लाह के पुत्र तबरेज आलम की चाकू से गला रेतकर हत्या किये जाने की बात स्वीकार की है।