बिहार के भी अलग-अलग क्षेत्रों में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। यहां ऐतिहासिक जगह के अलावा कई प्राकृतिक जगह नहीं है जो पर्यटकों का मन मोह लेती है। ऐसी जगह है जमुई जिले का गरही जलाशय। बिहार सरकार के मंत्री अशोक चौधरी ने कुछ महीने पहले ही कहा था कि जमुई जिले के गरही डैम में गोवा जैसे वाटर स्पोर्ट की सुविधा विकसित की जाएगी। अब इसकी शुरुआत हो चुकी है। फिलहाल वोटिंग के लिए कई सारे स्टीमर और बोट मंगाए गए हैं।

ये सुविधाएं हुई शुरू

बता दें कि पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए यहां और भी कई चीजें शुरू होनी है। फिलहाल बोटिंग के लिए स्टीमर समेत आठ नाव मंगाए गए हैं। बरही जलाशय में बोटिंग के लिए मोटर लगे तीन स्टीमर और पैर से चलाने वाले पांच नाव को मंगाया गया है। नौका विहार के लिए डैम के पानी पर प्लास्टिक के बड़े-बड़े डब्बे को जोड़ कर यहां एक प्लेटफार्म भी बनाया गया है। बाद में यहां जेट स्की, वाटर स्किंग जैसी सुविधाएं भी शुरू की जाएगी।

गेस्ट हाउस रेस्टोरेंट का भी होगा निर्माण

फिलहाल कोलकाता से ट्रेन और लोगों को वोटिंग और स्टीमर के लिए ट्रेनिंग दे रहे हैं। जमुई जिला नक्सल प्रभावित क्षेत्र का है और इसका बॉर्डर झारखंड से भी लगता है। लेकिन हाल फिलहाल में शांति बहाली हुई है ऐसे में इसे अब पर्यटन के लिहाज से विकसित किया जा रहा है। कुछ दिनों पहले निरीक्षण के लिए आए मंत्री अशोक चौधरी ने कहा था कि यहां पर गेस्ट हाउस के अलावा रेस्टोरेंट का भी निर्माण कराया जाएगा।