महाशिवरात्रि के दिन दो लाख श्रद्धालुओं के बाबाधाम आने की संभावना है. भारी भीड़ की संभावना को देखते हुए जिला प्रशासन ने पुख्ता तैयारी की है. हर घंटे 12500 श्रद्धालुओं को कराया जायेगा जलार्पण. वहीं, शिवरात्रि के दिन बाबा भोलेनाथ पर 16 घंटे जलार्पण होगा. आम श्रद्धालुओं के लिए सुबह 4.25 बजे से शुरू हो जायेगा जलार्पण, वहीं हर शिवरात्रि की तरह रात तकरीबन 9 बजे तक बाबा मंदिर का पट खुला रहेगा.

हर घंटे 12,500 श्रद्धालुओं को जलार्पण कराने की व्यवस्था

देवघर डीसी मंजूनाथ भजंत्री ने प्रभात खबर से बात करते हुए कहा कि शिवरात्रि के दिन बाबाधाम में मंगलवार की अहले सुबह 4.25 बजे से आम श्रद्धालुओं के लिए जलार्पण शुरू होगा. 16 घंटे जलार्पण करवाया जायेगा. मंदिर प्रशासन ने हर घंटे लगभग 12,500 श्रद्धालुओं को जलार्पण करवाने की व्यवस्था की है.

श्रद्धालुओं से संयम बरतने की अपील

डीसी ने श्रद्धालुओं से अपील करते हुए कि सभी श्रद्धालु संयम बरतें. यहां सारी व्यवस्था है. कोई दिक्कत नहीं होगी. जैसा मजिस्ट्रेट और पुलिस कहें, उनके निर्देश का अनुपालन करें. सभी को सुलभ जलार्पण का अवसर मिलेगा. हर बार की तरह रात तकरीबन 9 बजे तक जलार्पण होगा. उसके बाद शिव विवाह और चतुष्प्रहर पूजा आदि कार्यक्रम होंगे.

नाथबाड़ी से मिलेगा शीघ्रदर्शनम कूपन

डीसी श्री भजंत्री ने कहा कि भीड़ के कारण बाबा मंदिर के प्रशासनिक भवन में शीघ्र दर्शनम कूपन का काउंटर रहने से विधि-व्यवस्था की परेशानी होती थी. भीड़ अधिक होगी, इसलिए प्लान किया गया है कि शीघ्र दर्शनम का काउंटर नाथबाड़ी में होगा. इस बार एक दिन अडवांस यानी 28 फरवरी को भी श्रद्धालु शीघ्रदर्शनम कूपन ले सकेंगे. शीघ्र दर्शनम वाले श्रद्धालुओं को दो-दो घंटे का स्लॉट में जलार्पण कराया जायेगा. शीघ्रदर्शनम वालों की कतार लंबी होने पर वीआइपी गेट से बाहर पश्चिम गेट की ओर जायेगा ताकि वीआइपी गेट पर अचानक भीड़ की स्थिति न हो.

CCTV से होगी कड़ी निगरानी

उन्होंने कहा कि इस मौके पर जिला प्रशासन पूरी तरह से चुस्त है. सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं. सीसीटीवी से कड़ी निगरानी भी होगी. इस कारण श्रद्धालु बिना भय के बाबा का दर्शन करें, लेकिन पुलिस प्रशासन के दिशा-निर्देश का अनुपालन जरूर करें.