गया. ऐसे तो शादी का कार्ड हर कोई निमंत्रण देने के लिए छपवाता है, लेकिन अब इसका इस्तेमाल संदेश देने के लिए भी किया जा रहा है। एक ऐसा ही अनोखा शादी का कार्ड इन दिनों खूब सुर्खियों में है। बिहार के गया के सामाजिक कार्यकर्ता सह जदयू नेता भोला यादव ने अपनी बेटी की शादी के कार्ड में ऐसी जरूरी बातें लिखवाई है, जिसे पढ़कर हर कोई उनकी तारीफ कर रहा है। उन्होंने ‘शराब पीकर आना सख्त मना है’, ‘शस्त्र लेकर आना वर्जित’ एवं ‘दहेज मुक्त विवाह’ जैसे बातें शादी के कार्ड पर छपवाया है, जिसकी चर्चा हर जगह हो रही है।

बता दें कि भोला यादव की बेटी की आगामी 16 फरवरी को है। उन्होंने शादी के कार्ड पर यह निर्देश छपवाने के अलावा लोगों से भी अपील कर रहे हैं कि शराब पीकर और हथियार लेकर शादी समारोह में न आए। ऐसे मेहमानों का प्रवेश वर्जित रखा जाएगा। इसको लेकर भोला यादव और उनकी पत्नी ने बताया कि  मेरी पहली बेटी की शादी है, अतिथियों को फोन पर भी इसकी जानकारी देने के साथ-साथ आमंत्रण पत्र को भेजा गया है।

दहेजमुक्त शादी और शराबबंदी का समर्थन

उन्होंने बताया कि दहेज मुक्त शादी की जा रही है और अतिथियों से आग्रह किया है कि वो अपना लाइसेंसी हथियार लेकर भी शादी में शामिल ना हों। भोला यादव ने बताया कि वो मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के शराबबंदी अभियान से काफी प्रभावित हुए हैं और इसी से उन्हें यह प्रेरणा मिली है। शादी समारोह या अन्य पार्टियों में शराब पीकर जाना उचित नहीं है और न ही यह कोई शान की बात है।

शराबबंदी कानून में संशोधन का प्रस्ताव

बता दें कि बिहार विधानमंडल के आगामी बजट सत्र में शराबबंदी कानून में संशोधन का प्रस्ताव सरकार सदन में ला सकती है। नई व्यवस्था का मकसद न्यायालय में लंबित मामलों को कम करने के अलावा बड़े शराब माफियाओं और तस्करों को जल्द से जल्द सजा दिलवाना है। गौरतलब है कि बिहार में अप्रैल 2016 से पूर्ण शराबबंदी कानून लागू है। इसके तहत शराब बेचने और खरीदने पर प्रतिबंध है, इसका उल्लंघन करने पर उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई का प्रावधान है।