ओमीक्रोन बिहार में प्रवेश कर गया. पटना के किदवईपुरी में ओमीक्रोन का पहला मरीज मिला है. 26 वर्षीय युवक ओमीक्रोन पीड़ित पाया गया है. जिसकी पुष्टि राज्य स्वास्थ्य समिति के ईडी संजय सिंह ने  की है. इसकी जानकारी पटना जिलाधिकारी को भी दे दी गयी है. बिहार में ओमीक्रोन का मरीज मिलने से स्वास्थ्य विभाग एक्टिव हो गया है. अब युवक के संपर्क में आने वाले लोगों की ट्रेसिंग की जाएगी. कल यानी शुक्रवार की सुबह से स्वास्थ्य विभाग की टीम युवक की कंट्रैक्ट ट्रेसिंग का काम शुरू करेगी.

बताया जा रहा है कि किदवईपुरी का रहने वाला यह युवक विदेश से आया हुआ अपने भाई से मिलने दिल्ली गया था. इसका भाई दिल्ली में क्वारंटीन है. ओमीक्रोन का लक्षण पाए जाने के बाद दिल्ली सरकार ने उसे क्वारंटीन कर दिया है. दिल्ली से मुलाकात कर यह युवक बिहार आया. इसकी तबीयत खराब होने लगी. जिसके बाद इसका सैंपल लिया गया. जांच के लिए सैंपल दिल्ली भेजा गया. जहां से अभी थोड़ी देर पहले ही रिपोर्ट आयी है. जिसमें ओमीक्रोन की पुष्टि हुई है.

कहा जा रहा है कि युवक में जो लक्षण पाए गए हैं वो कोरोना के डेल्टा और डेल्टा प्लस से कई गुणा ज्यादा खतरनाक है. जिसको लेकर स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है. पीड़ित युवक को क्वारंटीन कर दिया गया है. साथ ही कल सुबह से ही इसके संपर्क में आने वाले लोगों की ट्रेसिंग करने का काम शुरू किया जाएगा. बता दें कि, बिहार में काफी तेजी से कोरोना का थर्ड वेरिएंट पैर पसारने लगा है. स्वास्थ्य विभाग की ओर जारी रिपोर्ट के अनुसार बिहार में पिछले 24 घंटे में 132 नये मरीज मिले हैं. इसके साथ ही कुल एक्टिव मरीजों की संख्या 333 हो चुकी है.