इस साल भी बिहार के प्रतिभावान बच्चे गणतंत्र दिवस पर दिल्ली की परेड में अपनी प्रतिभा दिखाएंगे। सूबे से पांच बच्चे परेड में शामिल होने वाले हैं। इसके लिए बच्चे पटना से रेल के माध्यम से दिल्ली के रवाना हो चुके हैं। दिल्ली के लिए रवाना होने से पहले बच्चों ने बताया कि वह प्रधानमंत्री से मिलने के लिए बेहद उत्साहित हैं। वहां की परेड में अपना हुनर दिखाएंगे और प्रधानमंत्री से मिले मार्गदर्शन को अपने जीवन में उतारेंगे। बता दें दिल्ली के कर्तव्य पथ पर 26 जनवरी को हर साल गणतंत्र दिवस परेड होती है। इसमें देश भर के चयनित बच्चे प्रतिभाग करते हैं। इस बार बिहार से 5 बच्चे शामिल होंगे। यह सारे बच्चे राष्ट्रीय कला उत्सव 2023 में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके हैं। 5 बच्चों में से 3 बच्चे पटना स्थित किलकारी बाल भवन के हैं। गणतंत्र दिवस परेड में देश भर से 60 बच्चे प्रतिभाग कर रहे हैं।

परीक्षा पर चर्चा में भी शामिल होंगे बच्चे
गणतंत्र दिवस की परेड में शामिल होने के बाद यह बच्चे 27 जनवरी को ‘परीक्षा पर चर्चा’ कार्यक्रम में प्रतिभाग करेंगे। 28 जनवरी को विजय चौक पर बीटिंग रिट्रीट कार्यक्रम में भाग लेंगे। बच्चों को प्रधानमंत्री से भी मिलना है। च्चे अपनी कला का प्रदर्शन करते हुए जो भी चित्रकारी या कलाकारी करेंगे, उनका प्रदर्शन गणतंत्र दिवस के दिन किया जाएगा। उसे वहां आए गणमान्य देखेंगे। परेड में बापू स्मारक महिला उच्च विद्यालय से कृति कुमारी, डॉ. जाकिर हुसैन +2 स्कूल से मोहम्मद हुसैन, भुवनेश्वर प्रसाद हाईस्कूल से जीतू कुमार,डीपीएस स्कूल पटना के अथर्व मनस और केंद्रीय विद्यालय से आरोही सिंह शामिल होगी।

राष्ट्रीय कला उत्सव 2023 में बच्चे जीत चुके हैं मेडल
सभी बच्चे राष्ट्रीय कला उत्सव 2023 में मेडल जीत चुके हैं। कला उत्सव में शास्त्रीय नृत्य में कृति कुमारी ने दूसरा स्थान, पारंपरिक खेल खिलौना में मोहम्मद हुसैन ने पहला स्थान, सोलो ड्रामा में जीतू कुमार ने तीसरा स्थान, शास्त्रीय गायन में अथर्व मानस ने पहला स्थान, मूर्तिकला में आरोही सिंह ने तीसरा स्थान हासिल किया था। इससे पहले वर्ष 2021 में आयोजित कला महोत्सव में राष्ट्रीय स्तर की विजेता किलकारी की प्रभा कुमारी ने प्रथम स्थान प्राप्त किया था। इसके लिए, प्रभा को 02 अक्टूबर 2022 को नई दिल्ली में आयोजित ‘राष्ट्रीय नेताओं की जयंती’ पर संसद भवन में पुष्पांजलि कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया, जहां उन्हें भारत के माननीय प्रधान मंत्री के साथ बातचीत करने का सुनहरा अवसर भी मिला।