सरकार ने राष्ट्रपति पद की उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू को जेड प्लस कैटेगरी की सुरक्षा मुहैया कराई है। उनकी सुरक्षा में सीआरपीएफ के जवानों को तैनात किया गया है। ये कमांडो 24 घंटे उनके साथ मौजूद रहेंगे। केंद्रीय गृह मंत्रालय ने द्रौपदी मुर्मू को संभावित खतरे की आशंका को देखते हुए उन्हें वीआईपी प्रोटेक्शन देने का निर्देश जारी किया औऱ जेड प्लास सुरक्षा प्रदान की। अब करीब 14 से 16 जवान हर वक्त उनके साथ मौजूद रेहंगे। घर पर भी ये कमांडो मौजूद रहेंगे।

वहीं, द्रौपदी मुर्मू ओडिशा में अपने गृहनगर के एक मंदिर में पूजा करने पहुंची तो सबसे पहले उन्होंने परिसर में झाडू लगाया। ANI ने अपने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें 64 साल की एनडीए प्रत्याशी द्रौपदी मुर्मू मंदिर पहुंची और पूजा अर्चना की। मंदिर परिसर में झाडू लगाया और सफाई की। पीएम नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर द्रौपदी मुर्मू की तारीफ की। उन्होंने कहा कि- उन्होंने अपना जीवन समाज सेवा और गरीबों, दलितों को सशक्त बनाने में समर्पित किया है।मुझे विश्वास है कि वह हमारे देश के लिए एक महान राष्ट्रपति सिद्ध होंगी।

बता दें कि द्रौपदी मुर्मू देश की पहली आदिवासी महिला है जिन्हें देश के राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार घोषित किया गया है। वह संथल से आती हैं। अगर वह चुनीं जाती हैं तो वह प्रतिभा पाटिल के बाद देश की दूसरी महिला राष्ट्रपति होंगी। इससे पहले प्रतिभा पाटिल साल 2007-2012 तक देश की राष्ट्रपति रही थीं।

साल 2007 में ओडिशा विधानसभा द्वारा साल के सर्वश्रेष्ठ विधायक के लिए नीलकंठ पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। उन्हें साल 2013 में बीजेपी राष्ट्रीय कार्यकारिणी के सदस्य के रूप में भी नामित किया गया था। वह बीजेपी की ओडिशा इकाई के अनुसूचित जनजाति मोर्चा की उपाध्यक्ष और बाद में अध्यक्ष भी रही। अगर वह जीत हासिल करती हैं तो पहली आदिवासी राष्ट्रपति होंगी। उन्हें झारखंड की पहली महिला राज्यपाल बनने का गौरव भी प्राप्त है।