सिवान: सिवान के पूर्व सांसद दिवंगत मो. शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब (Shahabuddin wife Hina Shahab) अब लालू प्रसाद यादव (Lalu Prasad Yadav) की पार्टी को छोड़ने की तैयारी में हैं। मोहम्मद शहाबुद्दीन के एक दोस्त ने ये बड़ा खुलासा किया है। हालांकि उन्होंने अपना नाम प्रकाशित नहीं करने की शर्त पर दावा करते हुए कहा है कि तीन से चार दिन में हिना शहाब राजद को बॉय-बॉय कर देंगी।

लालू की पार्टी छोड़ेंगी हिना शहाब!:

इस खबर के साथ ही अब सिवान में इतिहास बदलने की सुगबुगाहट दिखने लगी है. आपको बता दें कि शहाबुद्दीन, लालू प्रसाद यादव को अपना नेता मानते थे। अब उन्ही की पत्नी हिना शहाब राजद से इस्तीफा देने जा रही हैं। अब कयास लगाए जा रहे हैं कि हिना शहाब राजद व लालू परिवार को छोड़ती है तो कहा जाएंगी। फिलहाल इस बात की जानकारी नहीं मिल सकी है।

क्या जदयू का तीर थामेंगी हिना:

अब सवाल उठ रहे हैं कि हिना शहाब राजद को अगर छोड़ती हैं तो किसके साथ जा सकती हैं? यह सवाल बार-बार उनके समर्थकों के भी मन मे आ रहा है। चर्चा है कि हिना शहाब राजद (लालू परिवार) को छोड़ कर सीएम नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar ) के साथ जा सकती है। क्योंकि शहाबुद्दीन या हिना आज तक सेक्युलरिज्म की राजनीति किये हैं और वो नहीं चाहते कि ओवैसी वाली मुहर परिवार पर लगे। हाल ही में जदयू के चर्चित पूर्व विधायक श्याम बहादुर सिंह (Former MLA Shyam Bahadur Singh) ने हिना शहाब को जदयू में शामिल होने का ऑफर दिया था। उन्होंने कहा था कि हिना शहाब के साथ अन्याय हुआ।

लालू परिवार को कितना नुकसान?:

सिवान समेत पूरे बिहार पर अपना राजनीतिक असर डालने वाले मो शहाबुद्दीन का चेहरा सिर्फ सिवान ही नहीं बल्कि बिहार के लिए भी एक बड़ा चेहरा था। आज भी अगर पूरे बिहार में मुस्लिम समाज की बात हो तो सबसे बड़ा चेहरा मुस्लिम में शहाबुद्दीन परिवार को ही माना जाता है। अब मुस्लिम कौम के लोग भी चाहते है कि हिना शहाब राजद से इस्तीफा दें। साथ ही उनलोगों का ये भी कहना है कि अगर हिना इस्तीफा नहीं देतीं हैं तो हमलोग हिना शहाब को छोड़ देंगे। ऐसे में लालू परिवार के लिए आने वाले वक्त में इसे बड़े नुकसान के तौर पर देखा जा रहा है।

समर्थकों के दबाव में हिना?:

शायद यही बड़ा कारण होगा कि हिना शहाब को अब तीन चार रोज में फैसला लेना पड़ सकता है और इस्तीफा देना भी पड़ सकता है। अगर ऐसा होता है तो बिहार की सियासत में बड़ा बदलाव हो सकता है। इसके लिए सोशल मीडिया पर लगातार यह वायरल हो रहा है कि अगले 72 घंटे मे सिवान की राजनीति में भूचाल आ सकता है। हिना शहाब के समर्थक लगातार लालू के खिलाफ बयान दे रहे हैं और हिना के इस्तीफा देने की मांग पर अड़े हैं। इससे पहले हिना शहाब ने साफ कर दिया था कि कार्यकर्ताओं का जो भी फैसला होगा वही सर्वमान्य होगा।

सिवान की राजनीति पर टिकी लोगों की निगाहें:

हिना अगर राजद को छोड़ती हैं तो बड़ा नुकसान पार्टी को हो सकता है। बहरहाल कुछ लोग हिना के नीतीश के साथ जाने की बात कर रहे हैं तो कुछ नई पार्टी बनाने की। लेकिन हिना शहाब क्या कदम उठाएंगी लोगो की निगाहें उन पर टिकी हुई हैं अंदर अंदर ही एक खीचड़ी जरूर पक रही है जिसकी खुशबू आने लगी है।

हिना के समर्थकों में लालू के खिलाफ नाराजगी:

सिवान सहित पूरे सूबे के समर्थकों द्वारा मुस्लिम नेता पूर्व सांसद मो.शहाबुद्दीन की पत्नी हिना शहाब को राज्य सभा भेजने की मांग जोर शोर से उठायी जा रही थी।समर्थको का मानना है कि पूर्व सांसद के वफात के बाद हिना शहाब को राज्यसभा भेजना ही न्याय था। समर्थकों का तर्क था कि आजतक शहाबुद्दीन परिवार ने कभी भी किसी पद का लालच नहीं किया है। शहाबुद्दीन के वफात के बाद राजयसभा भेजकर शहाबुद्दीन परिवार के साथ इंसाफ और सम्मान देने की मांग समर्थक कर रहे थे लेकिन राजद ने समर्थकों की मांग को अनसुना करते हुए मीसा भारती (Misa Bharti) और पूर्व विधायक फैयाज अहमद (Former MLA Fayaz Ahmed) को राज्यसभा भेजने का फैसला लिया।