प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 11 अप्रैल को अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन के साथ बातचीत की थी। दोनों नेताओं के बीच जो बात हुई उसका जिक्र पीएम मोदी ने मंगलवार को एक कार्यक्रम के दौरान किया। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि मैंने राष्ट्रपति जो बाइडेन से हुई चर्चा के दौरान कहा था कि अगर विश्व व्यापार संगठन (World Trade Organization) हमें अनुमति दे तो भारत में अनाज के इतने भंडार हैं  कि हम उससे पूरी दुनिया का पेट भर सकते हैं। हमें परमिशन मिले तो हम अपने अनाज को पूरी दुनिया में भेज सकते हैं। मां अन्नपूर्णा के आशीर्वाद से हमारे यहां अनाज के भंडार भरे हुए हैं। बता दें कि पीएम मोदी लेउवा पाटीदार के अन्नपूर्णा माता मंदिर के नए भवन के भूमि पूजन के मौके पर वर्चुअली तौर पर मौजूद रहे।

इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने यूक्रेन और रूस युद्ध की वजह से पैदा हुए हालात का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा कि अभी पूरे विश्व में संकट के हालात पैदा हो गए हैं, क्योंकि कई चीजें जो आसानी से मिल जाया करती थीं, अब उन्हें हासिल करने में दिक्कत हो रही है। पीएम मोदी ने कहा कि जहां से हमें पेट्रोल और फर्टिलाइजर मिलता है, वह सब बंद हो चुका है। युद्ध के चलते ऐसा माहौल बन गया है कि सभी देश सिर्फ अपनी चिंता कर रहे हैं। इसी बीच एक नई मुसीबत दुनिया के सामने ये आई है कि दुनियाभर में अनाज के भंडार कम पड़ने लगे हैं।

वहीं प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल की तारीफ करते हुए कहा कि गुजरात को एक ऐसा नेतृत्व मिला है, जो म्रुदुभाषी है।  मुझे भरोसा है कि सीएम भूपेन्द्र पटेल गुजरात को आने वाले दिनों में नई उंचाइयों पर लेकर जाएंगे। उनकी आधुनिक सोच प्रशंसनीय है।

वहीं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात के खुद के कार्यकाल को याद किया। उन्होंने कहा कि मुझे याद है कि जब मैं गुजरात में काम करता था, तब देश के विकास के लिए गुजरात का विकास किया। साथ ही गुजरात के विकास के लिए हमने मापदंड स्थापित किए। पीएम मोदी ने कहा कि गुजरात की काफी समृद्ध पंरपरा है।