दुनियाभर के टॉप एयरपोर्ट में पटना एयरपोर्ट की रैंकिंग काफी सुधरी है। लोकनायक जयप्रकाश नारायण अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट दुनिया के टॉप 333 एयरपोर्ट में 86वें स्थान पर पहुंच गया है। पहले पटना एयरपोर्ट 333 नंबर पर था। वित्तीय वर्ष 2020-21 में इस एयरपोर्ट की सर्विस रेटिंग 3.72 थी। अप्रैल से जून 2021 में गुणवत्ता रेटिंग 4.48 हो गई। इससे दर्जा 107 तक पहुंच गया। फिर जुलाई से सितंबर 2021 में रेटिंग में 4.54 सुधार हुई और रैंकिंग 86 पहुंच गई। दरअसल, कोरोना संक्रमण का असर पटना एयरपोर्ट पर पड़ा। वित्तीय वर्ष 2019-20 की तुलना में 2020-21 में उड़ानों और यात्रियों की संख्या में कमी दर्ज हुई है। वित्तीय वर्ष 2021-21 में 23579 फ्लाईट का आवागमन हुआ। एक साल पहले 35145 फ्लाईट का आवागमन हुआ था। 27 लाख से अधिक यात्रियों का आवागमन हुआ था। पिछले साल यह संख्या 45.24 लाख थी। यात्रियों के अलावा 11.74 हजार टन माल ढुलाई भी हुई। पिछले साल यह 12.25 लाख थी।

पटना एयरपोर्ट पर अब एंबुलिफ्ट की सुविधा
पटना एयरपोर्ट पर यात्री सुविधाओं का लगातार विस्तार किया जा रहा है। इसी क्रम में अब यहां एंबुलिफ्ट सेवा शुरू की जा रही है। विमान में बैठने में बुजुर्ग और दिव्यांग यात्रियों को कोई परेशानी नहीं होगी। व्हील चेयर से विमान तक पहुंचने वालों को न रैंप की जरूरत पड़ेगी न ही एयरोब्रिज की कमी खलेगी। एयरपोर्ट पर बुजुर्ग, बीमार एवं दिव्यांग यात्रियों के लिए एंबुलिफ्ट की सुविधा शुरू होने जा रही है। एंबुलिफ्ट के सारे उपकरण एयरपोर्ट पर आ गए हैं। इस हफ्ते में यह सुविधा शुरू होनी है। खास बात है कि इस सुविधा का लाभ लेने के लिए यात्रियों को कोई चार्ज भी नहीं देना होगा।

एयरपोर्ट प्रबंधन ने बताया कि गंभीर मरीजों को इलाज के लिए कई तरह की लाइफ सपोर्ट मशीन लगाई जाती है। स्ट्रेचर के सहारे रैंप के जरिए इन्हें विमान के अंदर सीट तक ले जाना पड़ता है। ऐसे में मरीजों को झटका लगने की आशंका रहती है। एंबुलिफ्ट से गंभीर रूप से बीमार लोगों को काफी राहत मिलेगी। पार्किंग वे में खड़ी विमानों पर चढ़ने के लिए जहां आम यात्रियों के लिए सीढ़ी रहती है, वहीं गंभीर रूप से बीमार या बुजुर्ग, दिव्यांग यात्रियों को एंबुलिफ्ट के माध्यम से विमान में पहुंचाया जाएगा। बता दें पटना एयरपोर्ट पर अब तक एक भी एयरोब्रिज नहीं है। इस वजह से यात्रियों को विमान में जाने में काफी दिक्कत होती है। नए टर्मिनल भवन के बनने के बाद ही एयरपोर्ट पर एयरोब्रिज की सुविधा यात्रियों को मिलेगी।

सीआईएसएफ के 100 और जवान होंगे तैनात
पटना एयरपोर्ट पर सुरक्षा व्यवस्था चुस्त करने के लिए सीआईएसएफ के 100 अतिरिक्त जवान तैनात किए जाएंगे। एयरपोर्ट पर यात्रियों की बढ़ रही संख्या और टर्मिनल भवन का क्षेत्र बढ़ने के बाद यह निर्णय लिया गया है। इतने अतिरिक्त जवानों की तैनाती के बाद एयरपोर्ट के हर छोर पर जवान रहेंगे। फिलहाल एयरपोर्ट पर कुल जवानों की संख्या 500 से अधिक है। 100 अतिरिक्त जवान तैनात होने के बाद 600 से अधिक सुरक्षा बल हो जाएंगे। एयरपोर्ट प्रबंधन के मुताबिक दो वर्षों के दौरान पटना एयरपोर्ट टर्मिनल का अस्थाई विस्तार किया गया है। बता दें हाल में एयरपोर्ट प्रबंधन ने जवानों की संख्या बढ़ाने का प्रस्ताव भेजा था, जिसे मंजूर कर लिया गया है। इस माह के अंत तक अतिरिक्त जवान तैनात कर दिए जाएंगे।