बिहार में बेरोजगार चाय बेचने वाली लड़कियों के बाद अब सरकारी नौकरी कर रहा चाय बेचने वाला सुर्खियों में है। करीब आठ दिन से गोपालगंज के मौनिया चौक के पास ठेले पर चाय बेच रहे एक जवान की खूब चर्चा हो रही है। जिक्र हो भी क्यों नहीं, चाय बेचने वाले मोहित पाण्डेय बेरोजगार नहीं बल्कि एनएसजी कमांडो हैं। वह अभी दिल्ली में कार्यरत हैं। उनके चाय के ठेले पर ‘कमांडो चाय वाला’ लिखा हुआ है। जो हर किसी को चाय पीने के लिए स्टाल तक खींच ला रहा है। कमांडो 39 दिनों की छुट्टी लेकर घर आए हैं।

जानकारी के अनुसार पूर्वी चंपारण जिले के रामगढ़वा थाना क्षेत्र के सिंहासिनी गांव निवासी जितेंद्र पाण्डेय के बेटे मोहित पाण्डेय पिछले आठ दिनों से मौनिया चौक स्थित समाहरणालय के पास महसालेदार चाय की दुकान चला रहे हैं। अपने चाय वाले ठेले पर ‘कमांडो चायवाला अड्डा’ लिखा हुआ बोर्ड लगा है, जो चाय दुकान की शोभा बढ़ा रहा है। आने-जाने वालों की नजरें एक बार जरूर इस ठेले पर लिखे शब्दों पर जाती है।

एनएसजी कमांडो ने बताया कि उनके पिता बीएसएफ में थे। पिता के नौकरी के दौरान बलिदानी होने पर अनुकंपा पर उन्हें नौकरी मिली। साल 2014 में बीएसएफ ज्वाइन किया। मोहित ने बताया कि मैं 39 दिन की छुट्टी लेकर आया हूं। सात मई को छुट्टी लेकर घर आने के लिए निकला था। उन्होंने कहा कि मैंने अपने घर पूर्वी चंपारण न जाकर गोपालगंज शहर के मौनिया चौक के पास चाय का ठेला लगा लिया। कमांडो का कहना है कि कोई काम छोटा या बड़ा नहीं होता। किसी भी कार्य को करने के लिए लाज-शर्म को दरकिनार करना होगा, तभी बेहतर मुकाम मिलेगा। उन्होंने कहा कि ये बताने के लिए मैंने चाय की दुकान खोली है। काफी लोग आ रहे हैं। चाय पीकर हौसला बढ़ा रहे हैं।