बिहार के कटिहार जिले में एक दिलचस्‍प वाकया देखने को मिला है. ऐसा नजारा कम ही देखने को मिलता है. जब जिले का कलक्टर एक छात्र बनकर सरकारी स्कूल में पहुंच जाए. वहां कैसे बच्चों को पढ़ाया जाता है इसकी पड़ताल करने लगे. वो भी एक छात्र बनकर. दरअसल जिले के साहब यानि डीएम(DM) उदयन मिश्रा अचानक एक स्‍कूल पहुंचे और वहां क्‍लासरूम में चुपचाप प्रवेश कर गए और सबसे आखिरी बेंच पर छात्रों के साथ बैठ गए. उस समय नीतीश नाम के शिक्षक फिजिक्‍स (भौतिकी) की क्‍लास ले रहे थे. जब टीचर की नजर क्‍लास में एक अंजान शख्‍स पर पड़ी तो उन्‍होंने पूछा हू आर यू?. इस पर जब DM साहब ने अपना परिचय दिया तो शिक्षक के साथ ही क्‍लास में मौजूद छात्र भी हैरान रह गए.

डीएम उदयन मिश्रा नीतीश नाम के शिक्षक की पढ़ाने की शैली से काफी प्रभावित हुए. इस दौरान उन्होंने छात्रों से गति के बारे में सवाल किया. छात्रों के सटीक जवाब सुनकर DM साहब को खूब प्रसन्नता हुई. यह दिलचस्‍प वाकया कुर्सेला के अयोध्‍या प्रसाद विद्यालय के स्‍मार्ट क्‍लास में देखने को मिला है. दरअसल मुख्‍य सचिव के निर्देश पर कटिहार के DM उदयन मिश्रा समेत तमाम अधिकारी स्‍कूलों का औचक निरीक्षण करने निकले थे. इसी दौरान डीएम साहब कुर्सेला के अयोध्‍या प्रसाद विद्यालय पहुंचे थे.

विद्यालय में जब फिजिक्‍स की क्‍लास चल रही थी तब DM उदयन मिश्रा पिछले दरवाजे से चुपचाप क्‍लासरूम में घुस गए और आखिरी बेंच पर जाकर छात्रों के साथ बैठ गए थे. DM का यह शानदार अंदाज और क्‍लास ले रहे शिक्षक नीतीश के रवैये की पूरे इलाके में चर्चा हो रही है. DM उदयन मिश्रा ने बताया कि स्‍कूलों में शिक्षा की गुणवत्‍ता और पठन-पाठन के तौर-तरीकों का पता लगाने के लिए इस तरह के औचक निरीक्षण लगातार किए जाएंगे.

कटिहार के एक स्कूल में औचक निरीक्षण के दौरान कलेक्‍टर साहब स्‍मार्ट क्‍लास में शिक्षक के पढ़ाने के तरीकों पर ख़ुशी जताई. साथ ही उन्होंने स्‍कूल की व्यवस्था की भी तारीफ की. वहीं डीएम ने अपने साथ मौजूद अधिकारियों के साथ मिड डे मील भी खाया. सोशल मीडिया पर DM के इस अंदाज की खूब तारीफ हो रही है. वहीं इस मामले पर कलेक्‍ट उदयन मिश्रा ने कहा कि यह सामान्य जांच प्रक्रिया है ओर आगे भी यह जारी रहेगी. जिले में चल रहे स्‍कूलों की शिक्षा व्यवस्था के बारे में जमीनी जायजा लेने के लिए ऐसा औचक निरीक्षण जरूरी है.