पटना: बिहार में सीएनजी स्टेशनों (CNG Stations in Bihar) की संख्या बढ़ने वाली है। मार्च तक बिहार में और ज्यादा सीएनजी स्टेशन खुलेंगे। पटना में कई नई जगहों पर सीएनजी स्टेशन खुलने वाले हैं। मुजफ्फरपुर और बेगूसराय में भी कई और सीएनजी स्टेशन अगले महीने खुल जाएंगे। अगले माह तक पटना में सीएनजी स्टेशनों की संख्या (Number of CNG Stations in Patna) 15 से बढ़कर 20 हो जाएगी।

इसके साथ ही मार्च तक मुजफ्फरपुर और बेगूसराय में सीएनजी स्टेशनों की संख्या में वृद्धि की जाएगी। बिहार के परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल (Bihar Transport Secretary Sanjay Kumar Agrawal) ने सीएनजी प्रोवाइडर्स के साथ बैठक की। उन्होंने गेल, आईओसीएल, थिंक गैस एवं आईओएजीपीएल के प्रतिनिधियों के साथ सीएनजी स्टेशनों की स्थिति, नए सीएनजी स्टेशन की स्थापना एवं पाइप लाइन के विस्तार की समीक्षा की।

परिवहन मंत्री शीला कुमारी (Bihar Transport Minister Sheela Kumari) ने पूर्व में समीक्षा कर पटना के बाहर अन्य जिलों में भी सीएनजी स्टेशनों की संख्या बढ़ाने का निर्देश दिया था। परिवहन सचिव ने निर्देश दिया कि प्रमुख शहरों में नए सीएनजी स्टेशन खोलने की कार्रवाई करें। जहां सीएनजी स्टेशन खोले गये हैं, वहां मांग के अनुरtप सप्लाई करें। जिससे सीएनजी चालित वाहनों को आसानी से यह गैस उपलब्ध हो सके।

उन्होंने कहा कि सीएनजी चालित वाहनों में सीएनजी भराने के लिए लोगों को किसी तरह की परेशानी का सामना नहीं करना पड़े। इसके लिए विभिन्न सीएनजी स्टेशनों का विजिट करें। समस्या के कारणों की पहचान कर उसके अविलंब समाधान की दिशा में काम करें। परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने सभी संबंधित कंपनियों को निर्देश दिया कि राज्य में प्रस्तावित सीएनजी स्टेशनों की स्थापना एवं पाइप लाइन के विस्तार में तेजी लाएं।

पेट्रोल पंपों पर सीएनजी स्टेशन की स्थापना में किसी तरह की समस्या हो तो तत्काल अवगत कराएं, उसका समाधान किया जाएगा। पेट्रोल पंप पर सीएनजी स्टेशन लगाना पंप मालिक की इच्छा पर निर्भर नहीं है बल्कि अनिवार्य है। दरअसल, बिहार में लगातार सीएनजी वाहनों की संख्या बढ़ रही है लेकिन वाहनों की संख्या की तुलना में सीएनजी स्टेशन कम होने की वजह से वाहनों को लंबी कतारें लग जा रही हैं। ऐसे में ज्यादा सीएनजी स्टेशन खुलने पर वाहन मालिकों की परेशानी कम होगी।