नई दिल्ली. भारत ने एक बार फिर इतिहास रचा है।कोरोना वैक्सीन की 200 करोड़ खुराक का विशेष आंकड़ा पार करने पर पीएम नरेंद्र मोदी ने सभी भारतीयों को बधाई दी है। पीएम मोदी ने कहा कि देश को उन लोगों पर गर्व है जिन्होंने भारत के टीकाकरण अभियान को पैमाने और गति में अद्वितीय बनाने में योगदान दिया। इसने COVID-19 के खिलाफ वैश्विक लड़ाई को मजबूत किया है।

बता दें कि भारत ने पिछले साल 21 अक्टूबर को कोरोना टीकाकरण में 100 करोड़ का ऐतिहासिक मुकाम हासिल किया था। सिर्फ 9 महीनों में ही भारत को ये कामयाबी मिली थी। और अब अगले 9 महीने के बाद 200 करोड़ के आंकड़े को भी भारत ने पार कर लिया है। खास बात ये है कि देश में बनी वैक्सीन का ज्यादातर इस्तेमाल किया जा रहा है।

सभी को मुफ्त टीके

मंत्रालय ने कहा कि 18 से 59 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को 14.94 लाख एहतियाती खुराक दी गई। इसमें ज्यादातर लोगों को सरकार के विशेष 75-दिवसीय टीकाकरण अभियान ‘कोविड टीकाकरण अमृत महोत्सव’ के तहत टीके की खुराक दी गई। मंत्रालय ने कहा कि 18 से 59 आयु वर्ग के लोगों को दी गई कुल एहतियाती खुराक 1,06,32,488 से ज्यादा हो गई।

किसको कितने टीके

अब तक 60 वर्ष की आयु से अधिक के लोगों को टीके की 2.81 करोड़ खुराक दी जा चुकी है। मंत्रालय ने कहा कि 12 से 14 आयु वर्ग के 3.79 करोड़ बच्चों को पहली खुराक दी जा चुकी है जबकि 15 से 18 आयु वर्ग के 6.08 करोड़ से अधिक किशोरों को पहली खुराक दी गई है।