पटना. बिहार की राजनीति में लगातार हलचल है. जेडीयू और आरसीपी सिंह के बीच चला प्रकरण समय-समय पर सिर उठा रहा है. आरसीपी सिंह के राजद और जदयू के विलय की संभावना वाले बयान पर आज एकबार फिर जेडीयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह ने जुबानी हमला किया. उन्होंने आरसीपी सिंह को बीजेपी का एजेंट बताया. साथ ही कहा कि आरसीपी सिंह ने नीतीश कुमार की पीठ में छुरा घोंपा है.

ललन सिंह ने कहा कि आरसीपी सिंह ने बीजेपी ज्वॉइन करने का आज एलान किया है, तो इसमें नया क्या है. वो तो बीजेपी के एजेंट हैं. ललन सिंह ने कहा कि जेडीयू को 43 सीट पर पहुंचाने में बीजेपी के साथ मिलकर आरसीपी षड्यंत्र किया. एक तरह से उन्होंने नीतीश कुमार की पीठ में छुरा घोंपा है. नीतीश कुमार के 2019 के स्टैंड को कायम रखना आपकी जिम्मेदारी थी. लेकिन वे नहीं रख सके. आप एजेंट थे बीजेपी के इसलिए आपको हटाकर हमें राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया.

नीतीश कुमार ने बनाया आरसीपी को

ललन सिंह ने साफ तौर पर कहा कि जेडीयू का अस्तित्व समाप्त करने की बात करने वाले का ही अस्तित्व समाप्त हो जाएगा. आरसीपी सिंह को लेकर उन्होंने कहा कि वो नीतीश कुमार के स्टाफ थे. उन्होंने राजनीति में आने की इच्छा व्यक्त की तो नीतीश कुमार ने उन्हें इस लायक बना दिया. वर्ना आपको जेडीयू के बारे में कुछ पता है? उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने उन्हें बोलने के लायक बनाया. पहचान दी उनको. लेकिन अपने बनाने वाले को वही ऐसा कह सकता है जिसका चरित्र साफ नहीं हो और मन मैला हो.

आरसीपी सिंह का बयान

बता दें कि आरसीपी सिंह ने अपने एक बयान में बहुत जल्द JDU का RJD के विलय का दावा किया है. उन्होंने कहा है कि विलय का प्रयास अंदर-अंदर शुरू भी हो चुका है. आरसीपी ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार के पास अब कोई विकल्प भी नहीं. क्योंकि राजनीति में संख्या बल काफी महत्त्व रखता है. फिलहाल जो संख्या बल JDU और RJD का है उसे देखा और समझा जा सकता है. नीतीश कुमार ने तो अपना राजनीतिक उत्तराधिकारी भी तेजस्वी यादव को घोषित कर ही दिया है, बस विलय की औपचारिकता बाकी है.

दावा- जेडीयू 100 का आंकड़ा पार करेगी

आरसीपी के बयान पर ललन सिंह ने कहा कि मुंगेरी लाल के हसीन सपने देख रहे हैं आरसीपी. जेडीयू फिर से 100 का आंकड़ा पार करेगी. लालू यादव के सामने नतमस्तक होने के आरसीपी के सवाल पर कहा कि यह सरकार नीतीश कुमार के नेतृत्व में बनी है. जहां तक पीएम बनने का सवाल है, नीतीश कुमार ने कभी नहीं कहा हम उम्मीदवार हैं. उनका लक्ष्य है कि सभी विपक्षी पार्टियां एकसाथ मंच पर आएं. हालांकि ललन सिंह ने जोड़ा कि जेडीयू मानती है कि नीतीश कुमार के अंदर पीएम पद को लेकर सभी योग्यताएं हैं. बीजेपी के जंगलराज के आरोप पर ललन सिंह ने कहा कि बीजेपी सत्ता से हटी है तो विधवा विलाप कर रही है.