पटना: बिहार की सियासत में बदलाव की बयार बह चुकी है. बिहार में नीतीश कुमार की जदयू और  महागठबंधन के बीच एक बार फिर से गठबंधन हो गया है. हालांकि, आधिकारिक ऐलान का इंतजार है. इस बीच नई सरकार में नीतीश कुमार कितने महीने तक बिहार के मुख्यमंत्री रहेंगे, इसका फॉर्मूला भी सामने आ गया है. सूत्रों ने बताया कि महागठबंधन और जदयू के बीच गठबंधन में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ही रहेंगे. हालांकि, शुरुआती आठ से 10 महीने ही नीतीश कुमार मुख्यमंत्री रहेंगे, उसके बाद फिर तेजस्वी यादव को सीएम की कमान सौंप देंगे.

सूत्रों की मानें तो शुरुआत में जदयू के नीतीश कुमार ही मुख्यमंत्री रहेंगे और राजद नेता तेजस्वी यादव डिप्टी सीएम बनेंगे. हालांकि, आठ से दस महीने बाद नीतीश कुमार मुख्यमंत्री पद की कमान तेजस्वी यादव को सौंप देंगे. इसकी वजह बताई जा रही है कि नीतीश कुमार आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटेंगे. फिलहाल, महागठबंधन की सरकार को लेकर नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच डील पक्की हो गई है, लेकिन अभी आधिकारिक ऐलान हीं हुआ है. माना जा रहा है कि विभागों को लेकर भी बातचीत हुई है.

दरअसल, बिहार में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी जदयू यानी जनता दल यूनाइटेड और मुख्य विपक्षी पार्टी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) की अगुवाई वाले महागठबंधन के बीच गठबंधन हो गया है. इस तरह से बिहार में एनडीए गठबंधन टूट चुका है. माना जा रहा है कि कुछ देर में इसका आधिकारिक ऐलान भी हो जाएगा. इस बीच पटना के 1 अणे मार्ग और राजभवन की की सुरक्षा-व्यवस्था बढ़ा दी गई है.

यहां ध्यान देने वाली बात है कि इसी 1 अणे मार्ग स्थित आवास पर सीएम नीतीश कुमार जेडीयू के विधायकों और सांसदों के साथ अहम बैठक कर रहे हैं. इतना ही नहीं, सूत्रों ने बताया कि नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मिलने का समय मांगा और जल्द ही राजभवन जाएंगे. सूत्रों के अनुसार नीतीश कुमार को राज्यपाल की ओर से 12:30 बजे मिलने का समय दिया गया है. बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर आज महागठबंधन के नेताओं की बैठक भी हुई है.

बिहार में किसके पास कितने विधायक

बिहार में अभी केवल महागठबंधन में अभी कुल विधायकों की संख्या 114 हैं. आरजेडी के पास केवल 79 विधायक हैं, वहीं नीतीश कुमार की जेडीयू के पास 45 विधायक हैं. इसके अलावा, भारतीय जनता पार्टी के पास 77 विधायक हैं. कांग्रेस के विधायकों की संख्या 19 है. सीपीआई (माले) -12, सीपीएम- 2, सीपीआई- 2 और जीतन राम मांझी की हम के पास 4 विधायक हैं.