बिहार में फोरलेन पर चलना महंगा होने जा रहा है. सरकार ने एक बार फिर से अच्छी सड़क के बदले अधिक टैक्स लेने का फैसला किया है. सरकार ने टोल टैक्स में करीब 10 प्रतिशत तक की बढोतरी कर दी है. हर 60 किमी पर सरकार टॉल टैक्स वूसलने का काम कर रही है, ऐसे में पटना से दरभंगा जाने में ही करीब 17 रुपये अधिक कर देने होंगे.

एनएचएआई के परियोजना निदेशक ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2022-23 नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. कार और जीप के टोल टैक्स में 10 रुपये का इजाफा किया गया है. सबसे अधिक बढ़ोतरी ओवरसाइज वाहन के टोल में की गई है. एक तरफ के टोल में 65 रुपये की वृद्धि की गई. बता दें कि एनएचएआई एनएच 57 पर आसनपुर कुपहा टोल प्लाजा पर वसूली करता है. इससे पहले वित्तीय वर्ष 2021-22 में भी 5 से 25 रुपये तक टोल टैक्स बढ़ाया गया था.

एनएच 57 पर 10 फीसदी टोल टैक्स बढ़ाया गया जाएगा. मुजफ्फरपुर के मैठी स्थित टोल प्लाजा सहित पूर्णिया तक पहुंचने में चारों टोल प्लाजा पर 8.33 से लेकर 10.32 फीसदी तक टोल टोक्स में वृद्धि हुई है. एनएचएआई दरभंगा के प्रोजेक्ट डायरेक्टर डॉ. सूरज प्रकाश ने इस बाबत आदेश जारी कर दिया है. मैठी टोल प्लाजा पर फिलहाल, सिंगल जर्नी के लिए चार चक्के के हल्के वाहन के लिए 120 रुपए टोल टैक्स लिए जा रहे हैं.

24 घंटे के अंदर मैठी टोल प्लाजा पर डबल जर्नी के लिए 215 रुपए वसूले जाएंगे. वहीं जिले में निबंधित व्यवसायिक वाहन के सिंगल जर्नी के लिए 50 फीसदी अर्थात 65 रुपए लिए जाएंगे, जबकि, एक माह में 50 बार सिंगल जर्केनी लिए हल्के वाहन से 4405 रुपए लिए जाएंगे.