जब भी किसी राज्य के विकास की बात होती है तो शहरीकरण और नगरीकरण उस विकास का एक बड़ा पैमाना होता है। ऐसे तो बिहार में जो सरकार इस समय है उसे सुशासन का सरकार कहा जाता है और उसके मुखिया श्री नीतीश कुमार को विकास पुरुष कहा जाता है। राज्य की उन्नति को ध्यान में रखते हुए बिहार में पूर्व से लेकर पश्चिम तक और उत्तर से लेकर दक्षिण तक 20 जगहों का चुनाव किया गया है जिसकी कायाकल्प बिहार सरकार की देखरेख में बदली जाएगी ।

दिवाली के 1 दिन पूर्व नीतीश कैबिनेट की बैठक हुई है उस बैठक में नीतीश कैबिनेट में एक ऐसा एजेंडा शामिल किया है जिससे आप बिहार वासियों के लिए दिवाली गिफ्ट समझ सकते हैं। इस एजेंडे में पूरे बिहार में 20 जिलों को चिन्हित कर उन जिलों का कायाकल्प पूरी तरह से चेंज करने की बात कही गई है। उन 20 जिलों का जल्द से जल्द शहरीकरण करने का लक्ष्य बनाया गया है। नए तरीके से शहरीकरण के बाद उन जिलों का स्वरूप पूरी तरह से बदल जाएगा।

बिहार सरकार के द्वारा चयनित किए गए उन 20 क्षेत्रों के नाम

बिहार सरकार ने जिन 20 क्षेत्रों के स्वरूप को बदलने के लिए नामित किया है उन क्षेत्रों में सबसे पहला नाम आता है बक्सर का। बक्सर के अलावा किशनगंज, कटिहार, भभुआ, डेहरी सासाराम, औरंगाबाद, हाजीपुर, सिवान, बेतिया, बगहा लखीसराय, फारबिसगंज, खगड़िया, अररिया, सीतामढ़ी, मधुबनी और शिवहर हैं।

बिहार सरकार के द्वारा यह सारे कार्य आप निर्भर बिहार के तर्ज पर किया जा रहा है। शहरीकरण एवं नगरीकरण के अंतर्गत अच्छी सड़क, चौड़ी सड़क, बिजली आपूर्ति, साफ सफाई को सुदृढ़ करने की योजना है। इसके साथ साथ आस पास के इलाकों का तस्वीर भी बदल जाएगा। बिहार सरकार इन एजेंडों का अमलीय जमा जल्द से जल्द पहनाने की कोशिश करेगी।