2024 चुनाव के लिए विपक्षी एकता (Opposition Unity For 2024 Election) की दिशा में आज का दिन बेहद अहम है. एक तरफ जहां हरियाणा में विपक्ष का महाजुटान होगा, वहीं दिल्ली में सोनिया गांधी लालू यादव और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की मुलाकात होगी. थोड़ी देर में डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव (Deputy CM Tejashwi Yadav) के साथ सीएम विशेष विमान से हरियाणा के लिए निकलेंगे. जहां फतेहपुर में देवीलाल की जयंती पर रैली का आयोजन किया जा रहा है.

हरियाणा में विपक्ष का महाजुटान: इस कार्यक्रम का आयोजन हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री और देवीलाल के बेटे ओम प्रकाश चौटाला की ओर से हो रहा है. उनकी पार्टी हरियाणा इंडियन नेशनल लोकदल की तरफ से कार्यक्रम हो रहा है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव भी इसमें शामिल होंगे. देवीलाल जयंती पर पहले भी इस तरह के कार्यक्रम हुए हैं. पिछले साल भी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को न्योता मिला था लेकिन पार्टी की ओर से वरिष्ठ नेता केसी त्यागी शामिल हुए थे. इस बार नीतीश कुमार एनडीए से अलग होकर बिहार में महागठबंधन की सरकार बनाई है और पहले ही ऐलान कर दिया था ओम प्रकाश चौटाला की ओर से आयोजित रैली में शामिल होंगे और आज रैली में शामिल होने जा रहे हैं.

2024 चुनाव के लिए विपक्षी एकता की कवायद: बीजेपी की घेराबंदी को लेकर विपक्ष ने अपनी तैयारी शुरू कर दी है. इस तैयारी का सबसे बड़ा गवाह हरियाणा का फतेहाबाद बनने जा रहा है. जहां 25 सितंबर यानी रविवार को देश के पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी देवीलाल की 129वीं जयंती पर विपक्ष की मेगा बैठक होने जा रही है. राजनीति के जानकारों की मानें तो इस रैली का आयोजन वैसे तो इंडियन नेशनल लोकदल की तरफ से किया जा रहा है लेकिन इसमें एनसीपी चीफ शरद पवार (NCP Chief Sharad Pawar), बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे और द्रविड़ मुनेत्र कड़गम की कनिमोझी समेत विपक्षी दलों के कई नेताओं के शामिल होने की भी खबर है.

सोनिया गांधी से मिलेंगे लालू और नीतीश: उधर दिल्ली में आज लालू यादव और नीतीश कुमार की सोनिया गांधी से मुलाकात होगी. यह मुलाकात शाम 6 बजे 10 जनपथ पर होगी. इस दौरान विपक्ष को साथ लाने पर चर्चा हो सकती है. इससे पहले जब सीएम नीतीश कुमार दिल्ली आए थे, तब उन्होंने राहुल गांधी समेत अलग-अलग दलों के नेताओं से मिले थे. शनिवार को आरजेडी अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव पटना से दिल्ली आ रहे थे, तब उन्होंने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा था कि ‘बिहार में बीजेपी की सरकार हटा दी गयी है. 2024 में देश से भी उसका सफाया हो जाएगा’. उन्होंने कहा कि हम विपक्षी एकता की हरसंभव कोशिश कर रहे हैं. सोनिया गांधी के साथ बैठक का यही एजेंडा है.

“सोनिया गांधी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के मुलाकात का एक ही मकसद है विपक्षी एकजुटता. विपक्ष को कैसे एक मंच पर लाकर मोदी सरकार को हटाया जाए. नीतीश कुमार के साथ राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव भी सोनिया गांधी से मिलेंगे”- अरविंद निषाद, प्रवक्ता, जेडीयू