पटना। बिहार की राजनीति का एक अलग चेहरा इफ्तार पार्टी दिखा रही है। एक दूसरे के खिलाफ जुबानी जंग छेड़े नेता इस आयोजन के बहाने गले मिलते नजर आ रहे हैं। इफ्तार से आ रहीं तस्वीरोंं पर नजर डालें तो असमंजस होगा कि पक्ष कौन है और विपक्ष। नेता प्रतिपक्ष के आयोजन में मुख्यमंत्री पहुंचते हैं तो सीएम के बुलावे पर विपक्ष का सबसे बड़ा चेहरा।

करीब सात दिनों से बिहार में चल रहे इस आयोजन का एक संयोग शुक्रवार को पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी की इफ्तार पार्टी में दिखा। आयोजन में पहुंचे नीतीश कुमार ने थोड़ी दूर पर बैठे लोजपा रामविलास सांसद चिराग पासवान को इशारा करके बुलाया और कुछ देर बात की।

दरअसल, शुक्रवार को हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के संरक्षक जीतनराम मांझी और हम के राष्ट्रीय अध्यक्ष व मंत्री संतोष कुमार सुमन की ओर से इफ्तार पार्टी का आयोजन किया गया था। कार्यक्रम पूर्व सीएम जीतनराम मांझी के आवास पर था। आयोजन में पक्ष-विपक्ष का मजमा लगा था। इफ्तार में नीतीश कुमार भी पहुंचे। कार्यक्रम के दौरान एक साइड के सोफे पर सीएम और सांसद चिराग पासवान बैठे थे। नीतीश के बाद छठे नंबर पर चिराग थे।

चिराग पर जब सीएम की नजर पड़ी तो उन्होंने अपने बगल में बैठे जीतराम मांझी से इशारा करते हुए पूछा कि उधर क्या चिराग बैठे हैं। इस पर हम नेता दानिश रिजवान ने हामी भरी। चिराग के बगल में बैठे शाहनवाज हुसैन माजरा समझ नहीं पाए मगर मुकेश सहनी की नजर सीएम पर पड़ गई। उन्होंने चिराग को बताया कि नीतीश आपको पूछ रहे हैं। सीएम पर नजर जाते ही पहले तो चिराग ने दूर से प्रणाम किया फिर नीतीश के पास तक जाकर उनका पैर छुआ। इस दौरान कुछ देर तक चिराग और नीतीश की बातचीत भी हुई।