शादी के बाद हर लड़की का सपना होता है कि वह मां बने। मां बनने के बाद हर लड़की का स्त्रीत्व पूरा होता है। माँ ही सर्वप्रथम वह गुरु होती है जो अपने बच्चों को संस्कार के शिक्षा देती है. मां बेटे का रिश्ता दुनिया में सबसे पवित्र होता है। मां बिन कहे ही अपने संतान के मन की बात जान लेती है। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे की शादी के 54 साल बाद एक वृद्ध महिला ने दो जुड़वा बच्चों को जन्म देकर अनोखा विश्व रिकार्ड बनाया है।

आईवीएफ के जरिए हुए जुड़वा बच्चे-: खबरों के अनुसार इस दंपति का नाम ऐरामती मंगम्मा और राजाराव है। दोनों की शादी 22 मार्च 1962 को हुई थी. शादी के कई साल बीत जाने के बाद भी इन दोनों की कोई संतान नहीं हुई। राजा राव और इरावती ने बहुत कोशिश की उन्होंने कई डॉक्टरों को भी दिखाया और झाड़-फूंक भी कराई लेकिन उसका कोई असर नहीं हुआ लेकिन कहा जाता है कि भगवान के घर देर है अंधेर नहीं। आईवीएफ की सहायता से ही ऐरामती ने दो जुड़वा बच्चों को जन्म दिया।

जच्चा बच्चा दोनों है स्वस्थ-: इस कठिन ऑपरेशन को अंजाम देने वाले डॉक्टर ने बताया कि ऐसे केसेज काफी रेयर होते हैं और इसमें ऑपरेशन करना भी बहुत मुश्किल होता है। हमने बहुत ही सावधानी के साथ ही ऑपरेशन को अंजाम दिया और अब जच्चा बच्चा दोनों स्वस्थ और सुरक्षित हैं। डॉक्टर ने बताया कि यह केस अपने आप में ही एक अनोखा है। उन्होंने दंपति को इस उपलब्धि के लिए बधाई भी दी है।

बनने जा रहा है विश्व रिकॉर्ड-: इस खबर के बाद जहां राजा राव के परिवार में खुशी का माहौल है वहीं उन्हें एक दोहरी खुशी भी मिलने वाली है। ऐरामती ने 74 वर्ष की उम्र में बच्चों को जन्म देकर एक रिकॉर्ड कायम किया है। अब उनका यह रिकॉर्ड लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज होने जा रहा है।