इस कार्यक्रम में पीएमओ डॉ गुलशन राय भी मौजूद थे, जो राष्ट्रीय साइबर सुरक्षा समन्वयक रह चुके हैं. उन्होंने अपने संबोधन के दौरान बीते 35 वर्षों में सीडैक द्वारा हासिल की गई उपलब्धियों के लिए बधाई देते हुए कहा कि इ-गवर्नेंस और साइबर गवर्नेंस भविष्य की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि हमें इसके लिए तैयार रहने की जरूरत है. इस कार्यक्रम में सीडैक पटना के निदेशक आदित्य कुमार सिन्हा और कैपजेमिनी इंडिया के सीनियर डायरेक्टर प्रभाकर सिन्हा भी मौजूद थे.

बताया जा रहा है कि सीडैक की सहायता से मई महीने में इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के 112 हेल्पलाइन सर्विस की शुरुआत होने जा रही है. टीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर के हेल्पलाइन को स्थापित करने में सीडैक की भूमिका काफी अहम है.

इस एक हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करके ही फायर ब्रिगेड, एंबुलेंस और पुलिस से सहायता हासिल की जा सकेगी. ये तीनों सर्विस एक ही नंबर में मिल सकेगी. जिसके बाद यहां के नागरिकों को काफी सहूलियत होगी. वो आसानी से अपने समस्याओं को पुलिस तक पहुंचा सकेंगे और मदद हासिल कर सकेंगे.