यूपी फतेह के बाद गुजरात दौरे पर गए पीएम मोदी ने दो साल बाद अपनी मां हीराबेन से मुलाकात की है. इससे पहले अक्टूबर 2019 में उन्होंने अपनी मां से मुलाकात की थी. लेकिन उसके बाद से पीएम अपने कार्यक्रमों में व्यस्त हो गए और उनकी अपनी मां से मुलाकात नहीं हो पाई. ऐसे में अब जब वे दो दिन के गुजरात दौरे पर आए, तो उन्होंने अपनी मां हीराबेन से मिलने का भी वक्त निकाला.

वायरल हो रहीं तस्वीरों में दिख रहा है कि पीएम मोदी ने सबसे पहले अपनी मां का आशीर्वाद लिया और उसके बाद उनके साथ खाना खाया. इससे पहले भी जब पीएम अपनी मां से मिले हैं, ऐसी तस्वीरें हमेशा वायरल रही हैं.

पीएम मोदी के गुजरात दौरे की बात करें तो उन्होंने आज अहमदाबाद में एक बड़ा रोड शो निकाला. उस रोड शो में भारी भीड़ देखने को मिली और पीएम मोदी ने सभी का अभिवादन स्वीकार किया. इसके बाद पीएम ने पंचायत सम्मेलन में अपना संबोधन दिया. वहां पर उन्होंने कई मुद्दों पर विस्तार से बात की. ग्रामीण विकास पर उनका जोर रहा तो महिला सशक्तिकरण पर भी उन्होंने काफी कुछ बोला. मोदी ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि गुजरात में पंचायत के अंदर महिलाओं की हिस्सेदारी सबसे ज्यादा है.

उन्होंन ये भी कहा कि गुजरात बापू और सरदार पटेल की भूमि है. यहां पर ग्रामीण क्षेत्रों का समान विकास होना जरूरी है. इस सब के अलावा प्रधानमंत्री ने इस बात पर खुशी जाहिर की कि कोरोना के समय में भी ग्रामीण क्षेत्रों में खेती का काम नहीं रुका था. कोरोना से स्थिति जरूर विस्फोटक बनी, लेकिन गांव में आकर कोरोना लोगों को ज्यादा परेशान नहीं कर पाया.

वैसे इस संबोधन के अलावा पीएम मोदी ने बीजेपी कार्यालय में तमाम कार्यकर्ताओं से भी बातचीत की. वहां पर उन्होंने अपनी तरफ से सभी को वो मंत्र दिया जिससे जनता के बीच में अपने स्थान को और ज्यादा मजबूत किया जा सके. उन्होंने बताया कि अब कोरोना का कहर कम हो गया है, ऐसे में बीजेपी कार्यकर्ताओं को दोबारा जनता के बीच जाना चाहिए, संवाद स्थापित करना चाहिए और उनकी समस्याओं को सुनना चाहिए. इस बात पर भी जोर दिया गया कि केंद्र की योजनाओं को लेकर जनता को जागरूक करना है.