देश के सर्वोच्च पद यानी राष्ट्रपति के लिए 18 जुलाई को चुनाव होना है. इस बीच बीजेपी के नेतृत्व में सत्ताधारी एनडीए की तरफ से राष्ट्रपति उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू बिहार आ रही है. द्रौपदी मुर्मू 5 जुलाई को पटना आएंगी. इस दौरान वह सभी विधायकों और दलों से समर्थन मांगेगी. माना जा रहा है कि द्रौपदी मुर्मू एनडीए के नेताओं के साथ ही तेजस्वी यादव से भी मुलाकात कर सकती है. द्रौपदी मुर्मू महागठबंधन के नेताओं से भी समर्थन मांगेगी. बिहार में पहले नीतीश कुमार की पार्टी जदयू, जीतन राम मांझी और लोजपा रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान की पार्टी द्रौपदी मुर्मू का समर्थन कर चुके हैं.

दरअसल हाल ही में बीजेपी नेता और केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान पटना आये थे और उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात की थी. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मुलाकात के बारे में जानकारी देते हुए केन्द्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने बताया कि राष्ट्रपति चुनाव को लेकर सीएम से बात हुई. समर्थन के लिए द्रौपदी मुर्मू जल्द बिहार आएगी. बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए ने झारखंड की पू्र्व राज्यपाल और आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाया है. जबकि कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष ने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को अपना प्रत्याशी बनाया है.

बता दें कि राष्ट्रपति पद के लिए बुधवार तक 94 व्यक्तियों के कुल 115 नामांकन पत्र मिले थे. जिसमें सिर्फ द्रौपदी मुर्मू और यशवंत सिन्हा के चार-चार सेट के नामांकन पत्रों को वैध माना गया. इसलिए इन दोनों की उम्मीदवारी को स्वीकार किया गया है. बाकी अन्य 92 लोगों का नामांकन रद्द कर दिया गया है. 29 जून को नामांकन की आखिरी तारीख दी. वहीं पर्चा वापस लेने का अंतिम दिन दो जुलाई है. पीठासीन अधिकारी ने बताया कि 26 उम्मीदवारों के नामांकन उसी समय तकनीकी कारणों से रद्द कर दिया गया था. जबकि बाकी अन्य का नामांकन गुरुवार को जांच के बाद किया गया.

बतातें चलें कि बीजेपी के नेतृत्व में एनडीए ने झारखंड की पू्र्व राज्यपाल और आदिवासी नेता द्रौपदी मुर्मू को अपना उम्मीदवार बनाया है. वहीं कांग्रेस के नेतृत्व में विपक्ष ने पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा को अपना प्रत्याशी बनाया है. विधायकों और सांसदो की संख्या बल के हिसाब से एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू का जितना लगभग तय है. बिहार से नीतीश कुमार की पार्टी जदयू, बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी और लोजपा रामविलास के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान की पार्टी ने राष्ट्रपति चुनाव में BJP का समर्थन किया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद के लिए उम्मीदवार बनाये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा था कि द्रौपदी मुर्मू एक आदिवासी महिला हैं. एक आदिवासी महिला को देश के सर्वोच्च पद के लिये उम्मीदवार बनाया जाना बहुत खुशी की बात है.