मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के विपक्ष का राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने की सुगबुगाहट के बीच बिहार की सियासत गर्मा गई है. जदयू के राष्ट्रीय प्रधान महासचिव केसी त्यागी ने कहा है कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का नाम राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार के लिए आना पूरे बिहार समेत पार्टी के लिए गर्व की बात है. हालांकि, सीएम नीतीश ने खुद को राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाए जाने की अटकलों को खारिज कर दिया.

केसी त्यागी ने गुरुवार को कहा कि डॉ. राजेंद्र प्रसाद के बाद नीतीश कुमार अकेले बिहारी हैं, जो देश के सर्वोच्च पद के लिए योग्य माने जा रहे हैं. राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाए जाने की बात को खुद सीएम नीतीश ने ही खारिज कर दिया है. उनका कहना है कि इस बात में कोई दम नहीं है. त्यागी ने कहा कि विपक्ष की पार्टी की ओर से नीतीश कुमार को राष्ट्रपति पद उम्मीदवार बनाए जाने की बात कही गई. जबकि, हम एनडीए में हैं और कम्फर्टेबल हैं. ऐसे में एनडीए से बाहर जाने का सवाल ही पैदा नहीं होता है. 

केसी त्यागी ने कहा कि हम पहले भी मानते थे कि नीतीश कुमार पीएम मैटेरियल हैं. और अब उनका नाम राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए आ रहा है, जो कि पार्टी के लिए गर्व की बात है.पिछले दिनों कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया था कि यूपी विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद बिहार सीएम नीतीश कुमार बीजेपी का साथ छोड़ सकते हैं. उन्हें विपक्ष की ओर से राष्ट्रपति पद का उम्मीदवार बनाया जा सकता है. हाल ही में नीतीश कुमार की तेलंगाना सीएम केसीआर और चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर से भी मुलाकात हुई थी.